पुलिस ने एनकाउंटर में चोर को मारी पांच गोलियां, फिर खून देकर बचाई जान

author image
Updated on 29 Apr, 2017 at 7:08 pm

Advertisement

दिल्ली पुलिस ने मानवता का जो चेहरा दिखाया है वो वाकई काबिले तारीफ है। घटना 26 अप्रैल की है जब दिल्ली पुलिस की टीम ने एक संदिग्ध चोर को पकड़ने के दौरान हुई मुठभेड़ में उसपर पांच गोलियां दाग दी।

घटना दिल्ली के रोहिणी इलाके के सेक्टर 9 की है। आशियाना विहार अपार्टमेंट में रहने वाले लोगों ने सुबह तड़के दो चोरों को कॉलोनी में घुसते हुए देखा। किसी ने कॉल कर पुलिस को इस घटना की जानकारी दी। तभी पुलिस की टीम मौके पर पहुंची।

 

police


Advertisement

पुलिस को आता देख चोरों ने पिस्तौल निकालकर पुलिसवालों पर गोली चलाना शुरू कर दिया। पुलिस ने भी जवाब में फायर किया। कई राउंड फायरिंग में नितिन नाम का एक चोर बुरी तरह से घायल हो गया। नितिन को पैर, दोनों बांह और कमर के पास गोली लगी।वहीं उसका दूसरा साथी सलमान फरार होने में कामयाब रहा।

नितिन को तुरंत ही बाबा भीमराव अंबेडकर अस्पताल में भर्ती कराया गया। जब पुलिस नितिन को लेकर हॉस्पिटल पहुंची, तब तक उसके शरीर से काफी खून बह चूका था। डॉक्टरों ने कहा कि अगर उसे जल्द खून नहीं मिला तो वह मर सकता है। इसके बाद दो जवानों ने जिंदगी और मौत के बीच झूलने वाले नितिन को खून देकर उसकी जान बचाई।



संदिग्ध को रक्तदान करने वाले कॉन्स्टेबल अशोक कुमार अक्सर बीमार, सड़क दुर्घटना में घायल लोगों और वृद्ध लोगों के लिए रक्त दान करते रहते हैं। ये पहला मौका है जब उन्होंने किसी बदमाश को गोली मारने के बाद उसके इलाज के लिए अपना खून दान दिया हो। अशोक कहते हैं –

“संदिग्ध अपराधी को गोली मारना हमारी ड्यूटी थी और अब मैं मानवता का निर्वाह कर रहा हूं।”

 


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement