कोलकाता के होटल्स में मरे जानवरों के मीट की खबर पर ट्विटर के मजेदार रिएक्शन्स

Updated on 2 May, 2018 at 4:36 pm

Advertisement

कोलकाता में एक ऐसे रैकेट का पर्दाफाश हुआ है जिसके सदस्य मरे हुए जानवरों का मांस होटलों और रेस्तराओं में सप्लाई किया करते थे। इनमें कुत्ते-बिल्ली के मांस होने की भी खबर है। उत्तर कोलकाता के राजाबाजार इलाके में एक बर्फ फैक्ट्री पर छापा मारकर पुलिस ने 20 टन मांस जब्त किया था।

 

 

इस फैक्ट्री में बड़े पैमाने पर मरे हुए जानवरों के मांस की प्रोसेसिंग होती थी और इन्हें तैयार कर शहर के बड़े होटलों और रेस्तरां में खपा दिया जाता था। इस मामले में पुलिस ने अब तक करीब 10 लोगों को गिरफ्तार किया है।

 

 

कोलकाता पुलिस के एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी का कहना हैः

“इस रैकेट के तार झारखंड, ओडिसा और बिहार से भी जुड़े हो सकते हैं। यहां से मांस की सप्लाई होटल्स, रेस्तरां व डिपार्टमेन्टल स्टोर्स में भी की जाती रही थी।”

पुलिस का कहना है कि सिर्फ कोलकाता ही नहीं, बल्कि आसपास के नदिया, उत्तर व दक्षिण 24 परगना सहित कई जिलों में भी यह गिरोह मांस की सप्लाई करता था। यही नहीं, इसके तार अंतर्राष्ट्रीय रैकेट से भी जुड़े होने की आशंका है।

“पूछताछ में गिरफ्तार लोगों ने स्वीकार किया है कि वे नेपाल के बाजारों में भी मांस की सप्लाई करते थे। हालांकि, फिलहाल हम इस बात को लेकर आश्वस्त नहीं है। हमारे अधिकारी नेपाल पुलिस से बातचीत कर रहे हैं।”

पुलिस ने कहा है कि मरे जानवरों के मांस की प्रोसेसिंग इस तरह होती थी कि इसका पता चल पाना मुश्किल था।

“पहले तो मांस को फॉरमेलिन कैमिकल से धोया जाता था। इसके बाद मांस से चर्बी को अलग कर इसमें अलग तरह के कैमिकल मिलाते थे। बाद में इसमें अल्युमिनियम सल्फेट मिलाया जाता था, जिससे दुर्गंध न रहे। इसके बाद इनकी पैकिंग होती थी और बाजारों में भेजा जाता था।”

 

फिलहाल कोलकाता में मांसाहारी खाद्य पदार्थों की बिक्री बेहद कम हो गई है। अधिकतर लोग अब ताजा मांस की तरफ रुख कर रहे हैं, वहीं कुछ लोग शाकाहारी अपना रहे हैं।

 

 

इस घटना पर संज्ञान लेते हुए होटल एंड रेस्टोरेन्ट्स एसोसिएशन ऑफ ईस्टर्न इंडिया ने शहर के होटल्स व रेस्तरां को एक एडवायजरी जारी करते हुए कहा है कि वे सिर्फ पंजीकृत मांस विक्रेता से ही मांस की खरीदारी करें।

 

इस बीच, ट्विटर पर इस घटना को लेकर हंसी-ठिठोली का दौर जारी है।

 

 

 


Advertisement

 

 

 

 

 

 

 

 

 

कोलकाता की आबादी का एक बड़ा हिस्सा मांसाहार प्रेमी है। ऐसे में आप अंदाजा लगा सकते हैं कि इस खबर का कितना व्यापक असर पड़ा है।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement