मुंबई में 26/11 से पहले भी 2 बार हुई थी हमले की कोशिश, हेडली ने कबूला

author image
5:36 pm 8 Feb, 2016

Advertisement

लश्कर-ए-तोएबा के आतंकवादी डेविड कोलमैन हेडली पहली बार कबूल किया है कि उसे आतंकी गतिविधियों को अंजाम देने के निर्देश हाफिज सईद देता था। हेडली ने सोमवार को मुंबई के एक कोर्ट में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए गवाही में स्वीकार किया कि मुंबई में वर्ष 2008 में 26/11 से पहले भी सितम्बर और अक्टूबर महीने में 2 बार हमले की कोशिश हुई थी।

गौरतलब है कि 10 दिसंबर, 2015 को मुंबई में विशेष अदालत ने 26/11 आतंकी हमलों के मामले में हेडली को वादा माफ गवाह बनाते हुए उसे 8 फरवरी को पेश होने के आदेश दिए थे।

हेडली ने अदालत को बताया कि पहली बार सितम्बर 2008 में मुंबई में आतंकवादी हमले की योजना बनाई गई थी। लेकिन समुद्र में उनकी नाव चट्टान से टकरा गई, जिसमें हथियार और विस्फोटक डूब गए। हालांकि, नाव में सवार आंतकवादी किसी तरह बच निकलने में कामयाब रहे।


Advertisement

इसके बाद अक्टूबर 2008 में एक बार फिर से हमले की साजिश रची गई, लेकिन इस बार भी यह विफल हो गई। दूसरी बार भी हमले के साजिशकर्ताओं में वही लोग थे, जो पहली बार बोट लेकर हमला करने के उद्देश्य से आए थे।

26/11 को तीसरी बार आतंकवादी अपने मकसद में कामयाब हो गए। मुंबई में इस दिन हुए हमलों में 164 लोग मारे गए थे, जबकि 300 से अधिक लोग घायल हुए थे। हेडली ने अपनी गवाही में स्वीकार किया है कि मुंबई पर आतंकवादी हमला जमात-उद-दावा के प्रमुख हाफिज सईद के निर्देश पर हुआ था। साथ ही हेडली ने यह भी स्वीकार किया है कि वह हाफिज सईद से खासा प्रभावित था।

हेडली के मुताबिक, लश्कर ज्वाइन करने के बाद उसे 5-6 ट्रेनिंग कैम्प में ले जाया गया। वहां उसने दौरा-ए-सूफा, दौरा-ए-अम्मा, दौरा-ए-खासा, दौरा-ए-रिबत जैसे लीडरशिप कोर्स किए।

इसी दौरान उसकी मुलाकात जकीउर रहमान लखवी और हाफिज सईद से हुई। लखवी और सईद जिहाद पर भाषण देते थे। इन कोर्स में बताया गया कि भारत इस्लाम का दुश्मन है अौर जिहाद इस्लाम के दुश्मनों के खिलाफ है।

अमेरिकी कोर्ट हेडली को 26/11 आतंकी हमलों की साजिश रचने और आतंकियों को मदद पहुंचाने का दोषी ठहरा चुकी है। कोर्ट ने उसे 35 साल की सजा दी है।

हेडली की गवाही मंगलवार सुबह 7 बजे से फिर शुरू होगी।

सरकार की तरफ से स्पेशल प्रॉसिक्यूटर उज्ज्वल निकम पैरवी कर रहे हैं। वादा माफ गवाह हेडली की तरफ से महेश जेठमलानी पेश हो रहे हैं।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement