दारुल उलूम का फतवा, गोमुत्र उत्पादों का उपयोग न करें मुसलमान

author image
Updated on 22 Aug, 2016 at 5:43 pm

Advertisement

दारुल उलूम देवबंद ने एक फतवा जारी करते हुए कहा है कि मुसलमान गोमुत्र उत्पादों का उपयोग न करें। जी न्यूज की इस रिपोर्ट में दारुल उलूम के एक अधिकारी के हवाले से बताया गया है कि गोमुत्र नापाक या नाजायज है। अगर किसी चीज में गोमुत्र मिला हो इसका इस्तेमाल मुसलमानों के लिए पूरी तरह नाजायज होगा।

इस्लामिक शिक्षा में आला दर्जा रखने वाली इस संस्था से एक व्यक्ति ने योग गुरू बाबा रामदेव द्वारा चलाए जा रहे पतंजलि योगपीठ के उत्पादों के उपयोग के बारे में पूछा था।


Advertisement

इस रिपोर्ट के मुताबिक पिछले 18 अगस्त को देवबंद के उलेमाओं द्वारा दिए गए जवाब में यह साफ किया गया कि पतंजलि के किसी भी उत्पाद का उपयोग किया जा सकता है, लेकिन जिन उत्पादों में गोमुत्र मिला हुआ हो, उसका उपयोग नाजायज है।

गौरतलब है कि पतंजलि के उत्पादों के खिलाफ पहले तमिलनाडु तौहीद जमात (TNTJ) ने फतवा जारी किया था, जिसका समर्थन दारुल उलूम देवबंद के उलेमाओं ने भी किया था।

बाबा रामदेव के पतंजलि प्रोडक्ट्स के खिलाफ तमिलनाडु तौहीद जमात (TNTJ) के फतवे का दारुल उलूम देवबंद के उलेमाओं ने भी समर्थन किया है।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement