ऊंची पहाड़ी पर स्थित 11वीं सदी की भगवान गणेश की प्रतिमा गायब, साजिश की आशंका

author image
Updated on 27 Jan, 2017 at 5:47 pm

Advertisement

छत्तीसगढ़ में दंतेवाड़ा जिले की ढोलकल पहाड़ी पर स्थापित 11वीं सदी की प्राचीन भगवान गणेश की ऐतिहासिक प्रतिमा अचानक खाई में गिरने की वजह से खंडित हो गई है।

बताया जा रहा है कि 26 जनवरी की शाम तक गणेश की यह प्रतिमा अपनी जगह पर ही थी, लेकिन देर रात जब कुछ लोग प्रतिमा के दर्शन करने पहुंचे तो उन्हें मूर्ति अपनी जगह पर नहीं दिखाई दी। बाद में एसपी और जिला प्रशासन ने मौके पर पहुंचकर मूर्ति के खाई में गिरने की पुष्टि की।

Ganesh

गांव में मूर्ति के गायब होने की खबर फैलने के बाद वहां के लोगों ने बताया कि दो-तीन दिन पहले इस पहाड़ी के ऊपर हेलीकॉप्टर मंडरा रहे थे। अब ऐसे में आशंका जताई जा रही है कि या तो इस प्रतिमा की चोरी का प्रयास किया गया या इसे जानबूझकर खंडित कर दिया गया।

ganesh

कयास ये भी लगाए जा रहे हैं कि इस वारदात के पीछे माओवादियों या तस्करों के किसी अंतरराष्ट्रीय गिरोह का हाथ भी हो सकता है। इस पूरे मामले को लेकर पुलिस सूत्रों के कहना है कि संभवत: पहाड़ी से नीचे खाई में गिरने से प्रतिमा खंडित हुई हो, लेकिन मामले की संवेदनशीलता को देखते हुए क्षेत्र के अधिकारी इसे जांच कर रहे हैं।



समुद्र तल से लगभग तीन हजार फीट की ऊंचाई पर एक पहाड़ी के शिखर पर यह मूर्ति स्थापित थी।

इतनी ऊंचाई पर मूर्ति कैसे स्थापित हुई, ये सभी के लिए अब तक का सबसे बड़ा रहस्य है।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement