Advertisement

भारतीय क्रिकेट के 10 बड़े विवाद, जिसने खूब सुर्खियां बटोरी

6:10 pm 13 Jun, 2018

Advertisement

हमारे देश में क्रिकेट का क्रेज़ किसी भी दूसरे खेल बहुत ज़्यादा है। देश के बच्चे-बच्चे को क्रिकेट और क्रिकेटर के बारे में पता होता है। भले ही वो किसी और खेल के बारे में कुछ न जानते हों, लेकिन क्रिकेट की एबीसी बच्चे से लकेर बुड्ढ़ों तक को पता होती है। मैच देखने के लिए लोग अपना काम-धंधा छोड़कर टीवी के सामने बैठ जाते हैं। क्रिकेट का खेल जितना लोकप्रिय है, उसके साथ उतने ही विवाद भी जुड़े हैं।

चलिए आज आपको बताते हैं भारतीय क्रिकेट के 10 बड़े विवाद के बारे में, जिसने खूब सुर्खियां बटोरीं।

 

भारतीय क्रिकेट के 10 बड़े विवाद

 

 

 

1. हरभजन सिंह-एंड्रयू सायमंड्स विवाद

 

हरभजन सिंह और एंड्रयू सायमंड्स के बीच 2008 में जो हुआ था, बहुत से लोगों का वो वाकया याद होगा, लेकिन जिन्हें नहीं पता उन्हें हम बता दें कि 2008 में भारत-ऑस्ट्रेलिया के बीच हुए दूसरे टेस्ट मैच के दौरान ऑस्ट्रेलियाई ऑल राऊंडर एंड्रयू ने हरभजन सिंह पर कुछ टिप्पणी कर दी, जिसके बाद हरभजन सिंह ने उन्हें मंकी कह दिया। इस विवाद की वजह से हरभजन को तीन टेस्ट मैच के लिए बैन कर दिया गया था।

 

 

2. सौरव गांगुली का अभिनेत्री नगमा से रिश्ता

 

सौरव गांगुली टीम इंडिया के बेहतरीन कप्तानों में से एक थे। वह अपने खेल के लिए अक्सर चर्चा में रहते थे, लेकिन वर्ष 2001 में वह निजी कारणों से सुर्खियों में रहे। भारत-ऑस्ट्रेलिया दौरे के ठीक पहले शादीशुदा सौरव गांगुली का अभिनेत्री नगमा से अफेयर की खबरें आईं। कहा गया कि वो आंध्रप्रदेश के एक मंदिर में नगमा के साथ पूजा करने भी गए थे, जहां सिर्फ शादीशुदा जोड़े ही जाते हैं। हालांकि गांगुली ने इन बातों को बेबुनियाद बताया था।

 

 

3. धोनी के खिलाफ आपराधिक मामला

 

टीम इंडिया के सबसे चेहते खिलाड़ियों में से एक धोनी के खिलाफ क्रिमिनल केस दायर हो चुका है।  2015 में बेंगलुरू के एक शख्स ने कहा कि एक मैगज़ीन के कवर पर धोनी को विष्णु के रूप में दिखाया गया है, जिससे हिंदुओं की भावनाएं आहत होती हैं। इसे लेकर ही उसने धोनी पर केस किया था। हालांकि, 2016 में सुप्रीम कोर्ट ये केस खारिज कर दिया।

 

 

4. सिडनी में भीड़ के साथ असभ्य व्यवाहर के लिए विराट कोहली पर जुर्माना

 

टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली 2012 में सिडनी में खेले भारत-ऑस्ट्रेलिया मैच के दौरान अपना आपा खो बैठे थे और गुस्से भीड़ की तरफ अपनी बीच वाली उंगली दिखाई। कहा गया कि सिडनी के दर्शकों के रवैये से परेशान होकर कोहली ने ऐसा किया था। बावजूद इसके उन पर मैच फीस का 50 प्रतिशत जुर्माना लगाया गया।

 

 

5. गौतम गंभीर-शाहिद अफरीदी विवाद

 


Advertisement

वर्ष 2007 में कानपुर में खेले गए भारत-पाकिस्तान के तीसरे वनडे मैच के दौरान गौतम गंभीर शाहिद अफरीदी से टकरा गए। इसके बाद अफरीदी की उनसे बहुत बहस हो गई। इस वाकये की वजह से अफरीदी पर मैच फीस का 95 प्रतिशत और गंभीर पर 65 प्रतिशत जुर्माना लगा।

 

 

6. सौरव गांगुली और ग्रेग चैपल

 

सौरव और ग्रेग चैपल के विवाद ने खूब सुर्खियां बटोरी थीं। वर्ष 2005 में ग्रेग चैपल के भारतीय टीम का कोच बनने के साथ ही विवाद शुरू हो गया। दरअसल, चैपल को लगता था कि गांगुली को अपना खराब फॉर्म सुधारना चाहिए, जिसके लिए उन्हें कप्तानी छोड़नी होगी और उन्होंने गांगुली ने कप्तानी छोड़ने को कहा भीं, लेकिन चीज़ें ठीक नहीं रही। चैपल ने खराब खेल के आधार पर गांगुली को टीम से बाहर कर दिया, जिसका क्रिकेटर से लेकर फैंस तक ने भारी विरोध किया। कई क्रिकेटर्स गांगुली के साथ खड़े रहे। चैपल को बाद में वर्ष 2007 में कोचिंग छोड़नी पड़ी।

 

 

7. मैच फिक्सिंग विवाद ने अज़हरुद्दीन का करियर खत्म कर दिया

 

भारत के बेहतरीन कप्तानों में से एक मोहम्मद अज़हरुद्दीन का करियर मैच फिक्सिंग की भेट चढ़ गया। वर्ष 2000 में ये विवाद जब शुरू हुआ जब दक्षिण अफ्रीका का कप्तान हैंसी क्रोनिए ने कहा कि अज़हर ने उन्हें भारतीय बुकी से मिलवाया था। इसके बाद इस मामले में सीबीआई जांच शुरू हो गई। जांच के बाद सीबीआई ने कहा कि अज़हर ने तीन मैचों में फिक्सिंग की बात मानी है। अज़हर पर आजीवन प्रतिबंध लगा दिया गया। यह मामला 2012 तक चला और उसी साल आध्रप्रदेश हाईकोर्ट ने अज़हर पर से प्रतिबंध हटा दिया।

 

 

8. 2013 में स्पॉट फिक्सिंग में श्रीसंथ की भूमिका

 

अपने पूरे करियर में एस श्रीसंथ कई बार विवादों में घिर चुके हैं। हालांकि, सबसे ज़्यादा सुर्खियां बटोरी आईपीएल 6 में स्पॉट फिक्सिंग विवाद ने। दो अन्य क्रिकेटरों के साथ श्रीसंथ और 11 बुकी को पुलिस ने फिक्सिंग के आरोप में गिरफ्तार कर लिया। उन पर क्रिकेट के सभी फॉर्मेट में खेलने पर प्रतिबंध लग गया। हालांकि, वर्ष 2015 में अदालत ने उन्हें इस मामले से बरी कर दिया, लेकिन बीसीसीआई ने प्रतिबंध नहीं हटाया।

 

 

9. अमित मिश्रा पर महिला पर हमले का आरोप

 

2015 में अमित मिश्रा पर बेंगलुरु की एक महिला ने हमला करने और गाली गलौज का आरोप लगाया, जिसके बाद बेंगलुरू पुलिस ने अमित मिश्रा को गिरफ्तार कर लिया था। हालांकि, कुछ दिनों बाद ही महिला ने अपनी शिकायत वापस ले ली।

 

 

10. विनोद कांबली और सचिन की दोस्ती में दरार

 

विनोद कांबली बहुत प्रतिभाशाली क्रिकेटर थे, लेकिन उनका करियर अच्छा नहीं चल पाया। वर्ष 2009 में एक क्रिकेट रिएलिटी शो में कांबली ने कहा था कि उनके बचपन के दोस्त और सहयोगी सचिन तेंदुलकर ने बुरे वक़्त में उनका साथ नहीं दिया। कांबली के इस बयान से लोग हैरान रह गए, क्योंकि अब तक लोग दोनों की दोस्ती की मिसाल दिया करते थे। कांबली के इस बयान के बाद दोनों की दोस्ती में दरार आ गई। हालांकि, कुछ समय बाद दोनों ने इस विवाद को भुला दिया और दोस्ती जारी रखी।

 

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement