इस प्रेमी जोड़े की कहानी सुनकर आपको सच्चे प्यार पर हो जाएगा यकीन

author image
7:10 pm 4 Feb, 2017

Advertisement

जब किसी से सच्चा इश्क होता है, तो बस उस शख्स का आपकी जिंदगी में होना ही सबसे ज्यादा मायने रखता है। आज हम जिस जोड़े की कहानी आपको बताने जा रहे हैं उनका प्यार भी कुछ अलग है।

कभी जो दो जिंदगियां अपनी जिंदगी को ही खत्म करने निकली थीं, आज वो एक-दूसरे के हमसफर हैं। खास बात यह है कि ये दंपति पिछले 22 सालों से एक सीवर में रह रहा है। लेकिन ऐसा क्या हुआ कि इन्हें सीवर में अपनी जिन्दगी गुजारनी पड़ रही है। इनकी यही कहानी दिलचस्प और दिल को छूने वाली है।


Advertisement

मारिया गार्सिया और उनके पति मिगुएल रेस्ट्रेपो की लव स्टोरी की शुरुआत होती है कोलम्बिया की राजधानी मेडेलिन की सड़कों से, जहां इन दोनों की पहली मुलाकात हुई थी। दोनों की स्थितियां एक जैसी थी। नशे की लत का शिकार हो चुके दोनों अपनी जिंदगी खत्म कर लेना चाहते थे।

लेकिन कहते हैं कि जब दो नेगेटिव एक साथ मिल जाते है तो पॉजिटिव होता है। ऐसा ही कुछ हुआ इनके साथ भी। जिंदगी में कई परेशानियों से जूझ रहे ये दोनों मुश्किल के दौर में एक दूसरे का सहारा बने। दोनों ने न सिर्फ शादी की, बल्कि नशे की लत से भी खुद को उबारा।

इन दोनों के पास रहने का कोई ठिकाना नहीं था। शादी करने के बाद दोनों ने मेडेलिन की सड़कों पर ही रहना शुरू कर दिया। जिस इलाके में यह रहते थे, वह जगह बड़े पैमाने पर नशीले पदार्थों की तस्करी के लिए जानी जाती है। बाद में ऐसे माहौल से दूरी बनाने के लिए उन्होंने एक सीवर (नाले) में पनाह ली।

गरीबी की मार झेल रहे इस परिवार ने 22 सालों से नाले में ही अपना आशियाना बनाया है।

एक-दूसरे का हाथ थामने के बाद इनके जीवन में बहुत सुधार हुआ। लेकिन वक्त के साथ सब कुछ सही होने के बावजूद भी इन्होंने सीवर को छोड़ने के बारे में कभी नहीं सोचा।

इस आशियाने पर जब आप नजर डालेंगे तो आपको इनके रिश्ते की खूबसूरती का अंदाज होगा। इस घर में वो तमाम सुविधाएं मौजूद है जो किसी भी आम घर में होती है।

यहां पर बिजली आती है। सीवर के अंदर ही किचन भी बनाया गया है साथ ही एक तरफ टीवी भी रखा हुआ है।

इस जोड़े के पास एक प्यारा सा ब्लैकी नाम का कुत्ता है, जो इनके इस प्यारे से आशियाने की रखवाली करता है और घर का साजो सामान लाने में मदद करता है।

इस दंपत्ति को अपनी जिंदगी में अभी तक जो कुछ भी मिला है, वे उससे बेहद खुश हैं। दंपत्ति का कहना है कि अगर अब उनके पास पैसा भी आ जाता है तो वे अपना घर बनाने की बजाए सीवर में बने अपने आशियाने में ही रहना पसंद करेंगे।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement