दुनिया के इन 10 देशों के पास नहीं है अपनी सेना, सुरक्षा है बड़ी चुनौती

author image
Updated on 18 Jun, 2016 at 5:26 pm

Advertisement

आमतौर पर माना जाता है कि किसी देश की सुरक्षा के लिए उसके पास सेना का होना बेहद जरूरी है। सेना किसी भी देश की शक्ति का पैमाना होती है। यही वजह है कि दुनिया के तमाम देश इन कोशिशों में लगे होते हैं कि उनके पास अत्याधुनिक हथियार हो और शक्तिशाली सेना हो।

लेकिन आश्चर्य की बात यह है कि भले ही दुनिया के देश अपनी सेनाओं को युद्धक साजोसामान से लैश करने के लिए अरबों डॉलर सालाना खर्च करते हैं, कुछ देश ऐसे भी हैं, जिनके पास अपनी सेना नहीं है।

आइए इन देशों के बारे में जानते हैं।

1. अन्डोरा

यूरोप के छोटे से देश अन्डोरा के पास अपनी सेना नहीं है। यह देश किसी भी तरह की विपदा या हमले की स्थिति में अपने निकटवर्ती देश स्पेन और फ्रान्स पर निर्भर है। अन्डोरा ने इन दोनों देशों से अलग-अलग सैन्य सम्बन्धी समझौता कर रखा है।

visitandorra

visitandorra


Advertisement

2. कोस्टारिका

कोस्टारिका के पास वर्ष 1948 से पहले अपनी सेना थी। लेकिन इसी साल यहां हुए गृह युद्ध के बाद यहां सेना का प्रावधान हटा दिया गया। कोस्टारिका क्षेत्रफल के हिसाब से एक बड़ा देश है, जिसके पास अपनी सेना नहीं है। आंतरिक सुरक्षा के लिए यह देश पूरी तरह पुलिस प्रशासन पर निर्भर है।

आश्चर्य की बात यह है कि निकटर्वती निकारागुआ से सीमा पर तनाव के बावजूद कोस्टारिका ने सुरक्षा के लिए सेना नहीं बनाई है।

3. डोमिनिसिया

वर्ष 1981 के बाद इस देश के पास अपनी सेना नहीं है। आतंरिक सुरक्षा के लिए यह देश भी पूरी तरह पुलिस प्रशासन पर निर्भर है। हालांकि, सुरक्षा के लिए रिजनल सिक्युरिटी सिस्टम का प्रावधान बनाकर रखा गया है। कैरिबियाई देशों की सुरक्षा रिजनल सिक्युरिटी सिस्टम के तहत की जाती है।

4. ग्रेनेडा

यहां भी वर्ष 1983 में सेना का प्रावधान खत्म कर दिया गया था। कोस्टारिका और डोमिनिसिया की तरह ही यहां भी आंतरिक सुरक्षा की जिम्मेदारी पूरी तरह पुलिस के हवाले है।

5. हैती

इस लैटिन अमेरिकी देश में सेना ने दर्जनों बार निर्वाचित सरकार को हटाकर सत्ता पर कब्जा जमा लिया था। दर्जनों बार यहां सैन्य शासन रहा। यही वजह है कि वर्ष 1995 में यहां सेना का प्रावधान खत्म कर दिया गया। हालांकि, यहां एक बार फिर सेना को बनाए जाने की मांग उठ रही है।

6. आइसलैन्ड

आइसलैन्ड के पास अपनी सेना वर्ष 1869 से ही नहीं है। इसके लिए राहत की बात यह है कि इसकी सुरक्षा की जिम्मेदारी नाटो ने ले रखी है। यही नहीं, आइसलैन्ड की सुरक्षा के लिए अमेरिका भी जिम्मेदार है।

7. मॉरीशस

हिन्द महासागर का मोती कहे जाने वाले मॉरीशस के पास भी अपनी सेना नहीं है। इस छोटे देश के पास करीब 10 हजार से अधिक पुलिस जवान हैं। सुरक्षा की जिम्मेदारी इन्हीं जवानों पर है।

8. मोनैको

आपको जानकर हैरत होगी कि इस देश के पास 17वीं सदी के बाद से ही सेना नहीं है। कहने के लिए यहां दो मिलिट्री इकाइयां हैं। एक इकाई प्रिन्स की रक्षा करती है, दूसरी नागरिकों की। मोनैको की सुरक्षा कि जिम्मेदारी फ्रान्स ने ले रखी है।

9. पनामा

इस लैटिन अमेरिकी देश में वर्ष 1990 में सेना का प्रावधान खत्म कर दिया गया था। इस सूची के अन्य देशों की तरह ही यहां की सुरक्षा की जिम्मेदारी भी पुलिस पर है।

10. वैटिकन सिटी

यह दुनिया का सबसे छोटा देश है। पोप के देश वैटिकन सिटी की जिम्मेदारी कागजी तौर पर इटली ने ले रखी है।

turismomaso

turismomaso


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement