Advertisement

स्वच्छ भारत अभियान की एक सच्चाई ये भी, पहले ज़मीन पर कूड़ा फैलाया और फिर झाडू फेर दिया

11:53 pm 20 Sep, 2018

Advertisement

जैसे-जैसे चुनाव नजदीक आ रहे हैं, कुत्सित राजनीति अपने चरम पर पहुंचता जा रहा है। पक्ष-विपक्ष के लोग जनता को अपनी ओर करने के लिए जो भी बन पड़ रहा है, करने को बेताब दिख रहे हैं। उचित-अनुचित का ख्याल करना तो जैसे लोगों ने छोड़ ही दिया है। भले ही सरकार की कोई कितनी आलोचना कर ले लेकिन ‘स्वच्छ भारत’ अभियान के माध्यम से पिछले कुछ वर्षों में जो प्रयास हुए हैं, वे बेहद सराहनीय हैं। देश के विभिन्न हिस्सों में इसके बेहतर परिणाम देखे जा सकते हैं। वहीं कुछ लोग आज भी कचरा करने में बाज नहीं आते।

अब इन कर्मचारियों को ही देख लीजिए, पहले कूड़ा फैलाया फिर झाडू लगाया!

 


Advertisement

बेहद आश्चर्यजनक कार्यक्रम में लोगों ने पहले टोकरी से कूड़ा फैलाया और फिर स्वच्छता अभियान के तहत सफाई शुरू कर दी। इत्तेफाकन कैमरा पहले से चालू था और सब कुछ रिकॉर्ड कर लिया गया। अब ये वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। इसमें कुछ लोग एक रेलवे स्टेशन पर झाड़ू लगाते दिख रहे हैं। अब सोशल मीडिया पर लोग इस कार्यक्रम को करने वाले पार्टी के बारे में लगातार पूछ रहे हैं।

वीडियो पोस्ट पर ये भी लिखा है कि ‘स्वच्छ भारत अभियान’ में गलती से कैमरा पहले से ही चालू हो गया। महज 14 सेकंड के इस वीडियो में विश्रामपुर लिखा हुआ है, जहां लगभग दर्जन भर लोग हाथ में झाड़ू लिए हुए हैं। तहकीकात से ज्ञात होता है कि कार्यक्रम एसईसीएल कर्मचारियों द्वारा किया गया था। बताया जा रहा है कि ये वीडियो 29 जून 2018 को किसी पोर्टल से लिया गया है।

भले ही इसे लोग मजाक में ले रहे हैं लेकिन ये बेहद ही गंभीर मामला है। पार्टियों की राजनीति में कहीं हम असंवेदनशील तो नहीं हुए जा रहे हैं। सरकार देश को स्वच्छ बनाने के लिए सालों से प्रयासरत है और कुछ लोगों को मजाक सूझ रहा है। ऐसा जिसने भी किया है, बेहद शर्मनाक है।

साफ़-सफाई जन-जन की जरूरत और जिम्मेदारी है। इसमें पार्टी-पॉलिटिक्स के लिए कोई जगह नहीं होनी चाहिए।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement