Topyaps Logo

Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo

Topyaps menu

Responsive image

क्या आप जानते हैं सिर्फ़ एक दिन नहीं, 12 दिनों तक मनाया जाता है क्रिसमस?

Published on 24 December, 2018 at 5:04 pm By

दुनियाभर में क्रिसमस की धूम है। बाज़ार डेकोरेशन के सामानों से सज चुका है। लोग क्रिसमस की शॉपिंग कर रहे हैं। क्रिसमस है ही ऐसा पर्व जिसे दुनियाभर में सभी धर्मों के लोग सालों से मनाते आ रहे हैं। लोग अपने घर क्रिसमस ट्री लाते हैं, उसे सजाते हैं। केक काट फ़ेस्टिवल सेलिब्रेट करते हैं। इसकी तैयारियों में लोग कई दिनों पहले से ही जुट जाते हैं।


Advertisement

 

 

लेकिन क्या आप जानते हैं क्रिसमस सिर्फ़ एक दिन यानी 25 दिसंबर का ही फ़ेस्टिवल नहीं होता, बल्कि 12 दिनों तक मनाया जाने वाला पर्व है। आइए जानते है आखिर 12 दिनों तक क्या कुछ होता है-

 

 

पहला दिन (25 दिसबंर)- हम सबको पता है 25 दिसंबर को ईसा मसीह के जन्म दिवस की खुशी में क्रिसमस मनाते हैं। लिहाज़ा इस दिन खास जश्न का दिन होता है जिसे लोग दिल से मनाते आ रहे हैं।

दूसरा दिन (26 दिसंबर)- इस दिन को बॉक्सिंग डे भी कहते हैं। माना जाता है सेंट स्टीफ़न पहले ऐसे व्यक्ति रहे, जिन्होंने ईसाई धर्म के लिए अपनी जान गंवाई। उनकी याद में ही ये दिन समर्पित किया गया है।


Advertisement

तीसरा दिन (27 दिसंबर)- ईसा मसीह के मित्र सेंट जॉन को इस दिन लोग याद करते हैं। जॉन यीशु से बेहद प्रभावित, प्रेरित रहे थे।

चौथा दिन (28 दिसंबर)- क्रिसमस के चौथे दिन यानी 28 दिसंबर को उन मासूम लोगों को याद किया जाता है जिनका कत्ल किंग हीरोद ने कर दिया था। बता दें ईसा मसीह को ढूंढते हुए किंग ने कई मासूम लोगों को मौत के घाट उतार दिया था। इस दिन उन आत्माओं की शांति के लिए प्रार्थना का रिवाज है।

पांचवां दिन (29 दिसंबर)- इस दिन सेंट थॉमस को याद किया जाता है, जो 12वीं सदी में चर्च पर राजा के अधिकार को चुनौती देने वाले रहे। 29 दिसंबर को ही उनकी ह्त्या कर दी गई थी।

छठा दिन (30 दिसंबर)- इस दिन को क्रिश्चियन समुदाय के लोग सेंट ईगविन ऑफ़ वर्सेस्टर को समर्पित करते हैं और उन्हें याद करते हैं।



सातवां दिन (31 दिसंबर)- यूरोप के कई देशों में न्यू ईयर इव को सिलवेस्टर कहते हैं। इस दिन पारंपरिक रूप से खेल-कूद का आयोजन किया जाता है। पोप सिलवेस्टर ने सबसे पहले इस दिन को सेलिब्रेट किया था।

 

 

आठवां दिन (1 जनवरी)- क्रिसमस के आठवें दिन ईसा मसीह की मां मदर मैरी को समर्पित किया गया है। मुस्लिम समुदाय के लोग इन्हें हज़रत मरयम भी कहते हैं।

नौवां दिन (2 जनवरी)- नए साल के दूसरे व क्रिसमस के नौवें दिन चौथी सदी के सबसे पहले ईसाई ‘सेंट बसिल द ग्रेट’ और ‘सेंट ग्रेगरी नाजियाजेन’ को याद किया जाता है।

दसवां दिन (3 जनवरी)- इस दिन को लोग चर्च में जाकर मनाते हैं। क्रिश्चियन धर्म के लोगों का मानना है इस दिन ईसा मसीह का नामकरण किया गया था।

ग्यारहवां दिन (4 जनवरी)- 18वीं और 19वीं सदी की सेंट एलिजाबेथ अमेरिका की पहली संत बनी थी, जिनकी याद में इस दिन को सेलिब्रेट किया जाता है।

बारहवां दिन (5 जनवरी)- 5 जनवरी को क्रिसमस पर्व के अंतिम दिन के रूप में मनाया जाता है जिसे एपीफेनी भी कहा जाता है। इस दिन को अमेरिका के पहले बीशप सेंट जॉन न्यूमन को समर्पित किया गया है।

 

 


Advertisement

बताते चलें क्रिसमस के इन 12 दिन को ईसाई लोग श्रद्धा के साथ मनाते हैं, लिहाज़ा 5 जनवरी के बाद ही पश्चिम में लोग काम पर लौटते हैं।

Advertisement

नई कहानियां

Tamilrockers पर लीक हुई ‘छिछोरे’, देखने के साथ फ्री में डाउनलोड कर रहे लोग

Tamilrockers पर लीक हुई ‘छिछोरे’, देखने के साथ फ्री में डाउनलोड कर रहे लोग


Sapna Choudhary Songs: सपना चौधरी के ये गाने किसी को भी थिरकने पर मजबूर कर दें!

Sapna Choudhary Songs: सपना चौधरी के ये गाने किसी को भी थिरकने पर मजबूर कर दें!


जानिए कैसे डाउनलोड करें YouTube वीडियो, ये है आसान तरीका

जानिए कैसे डाउनलोड करें YouTube वीडियो, ये है आसान तरीका


प्रधानमंत्री आवास योजना से पूरा होगा ख़ुद के घर का सपना, जानिए इससे जुड़ी अहम बातें

प्रधानमंत्री आवास योजना से पूरा होगा ख़ुद के घर का सपना, जानिए इससे जुड़ी अहम बातें


ब्रह्माजी को क्यों नहीं पूजा जाता है? एक गलती की सज़ा वो आज तक भुगत रहे हैं

ब्रह्माजी को क्यों नहीं पूजा जाता है? एक गलती की सज़ा वो आज तक भुगत रहे हैं


Advertisement

ज़्यादा खोजी गई

टॉप पोस्ट

और पढ़ें Culture

नेट पर पॉप्युलर