अब यह साफ हो गया है कि डोकलाम में चीन सड़क नहीं बना रहा है

Updated on 7 Oct, 2017 at 1:05 pm

Advertisement

पिछले कुछ दिनों से भारतीय मीडिया में डोकलाम को लेकर नए दावे किए जा रहे हैं। मीडिया के एक वर्ग का दावा रहा है कि चीन एक बार फिर से डोकलाम में सड़क बना रहा है। इस मामले में पिछले कुछ दिनों से लगातार रिपोर्टिंग की जा रही है।

हालांकि, अब भारत सरकार ने मीडिया रिपोर्ट्स को गलत बताया है और साफ किया है कि डोकलाम में यथास्थिति जारी है और चीन की तरफ से सड़क निर्माण नहीं किया जा रहा है।

विदेश मंत्रालय के एक बयान में कहा गया हैः

“हमने डोकलाम पर कुछ मीडिया रिपोर्ट्स देखी हैं, 28 अगस्त के बाद से डोकलाम में विवादित भारत-चीन के बीच सैन्य गतिरोध की जगह और इसके आसपास के इलाकों में कोई नया घटनाक्रम नहीं हुआ है। इलाके में यथास्थिति बनी हुई है। इसके विपरीत कुछ भी कहना गलत है।”


Advertisement



मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया था कि चीन ने डोकलाम में बड़ी संख्या में सैनिकों की तैनाती शुरू की है। साथ ही एक सड़क का चौड़ीकरण किया जा रहा है। हालांकि, यह जगह उस स्थान से 12 किलोमीटर दूर है, जहां पिछले दिनों भारत और चीन में टकराव जारी थी।

मीडिया के आकलन को भारतीय वायुसेना अध्यक्ष मार्शल बीएस धनोआ के बयान से भी बल मिला था।

मार्शल बीएस धनोआ ने कहा थाः

“दोनों देशों की सेना आमने-सामने नहीं हैं जैसा कि हमें लग रहा है, हालांकि चुंबी घाटी में चीन की सेना अब भी तैनात है। मैं उम्मीद करता हूं कि वह इलाके में सैन्य अभ्यास खत्म होने के बाद अपनी सेना वहां से हटा लेंगे।”

डोकलाम में चीन और भारत के बीच 73 दिनों तक गतिरोध बना रहा था। इस गतिरोध की शुरूआत तब हुई थी जब भारत ने चीनी सेना को एक विवादित इलाके में सड़क बनाने से रोक दिया था। हालांकि, यह गतिरोध पिछले 28 अगस्त को खत्म हो गया।

इसके बाद ही भारतीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ब्रिक्स सम्मेलन में भाग लेने के लिए चीन गए थे।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement