चीन ने पूरे देश में बिछाया कैमरों का जाल, भ्रष्टाचार और अपराध से अंतिम लड़ाई की तैयारी

Updated on 27 Sep, 2017 at 5:51 pm

Advertisement

चीन टेक्नोलॉजी के मामले में सब पर भारी पड़ता है, इस बात में कोई दो राय नहीं है। अब चीन अपनी इसी टेक्नोलॉजी के सहारे देश से भ्रष्टाचार का खात्मा करेगा। भ्रष्टाचार से निपटने के लिए चीन ने पूरे देश में करीब 2 करोड़ आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस इक्युप्ड कैमरे लगाए हैं। साथ ही इनकी संख्या बढ़ाए जाने पर विचार किया जा रहा है।

इन कैमरों को दुनिया का बेहतरीन एडवांस सर्वेलेन्स सिस्टम माना जाता है।

चीन में लगे इन कैमरों को ‘स्काई नेट’ ऑपरेशन नाम दिया गया है।

कैमरा लगाने का मुख्य उद्देशय अपराधियों को ट्रैक करना है। यह एक ऐसी तकनीक है, जिसकी मदद से पुलिस किसी भी शख्स की उम्र, सेक्स और कपड़ों की पहचान कर अपराधियों को आसानी से ढूंढ सकती है।


Advertisement

इतना ही नहीं, इस सिस्टम के ज़रिए किसी वाहन की भी आसानी से पहचान की जा सकती है। यहां तक कि यह पैदल चल रहे, लोगों की भी स्कैनिंग कर सकता है। साथ ही इसमें जीपीएस भी लगा है। यानी यदि कोई व्यक्ति कोई अपराध करके भाग जाता है, तो इसके ज़रिए पुलिस आसानी से अपराधी के चेहरे के साथ-साथ उसकी लोकेशन का भी पता लगा सकती है।

‘स्काई नेट’ ऑपरेशन 2015 में लॉन्च किया गया। चीन ने अप्रैल में Jaywalkers को पकड़ने के लिए फेशियल रिकगनिशन टेक्नलॉजी का इस्तेमाल किया था।

चीन के इस कदम से वहां के लोग खुश हैं और उनका कहना है कि इस टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल उनकी रोज़मर्रा की ज़िंदगी को सुरक्षित बनाने के लिए किया जा रहा है। हालांकि, ऐसे लोगों की कमी नहीं है जिनका कहना है कि इसके जरिए उनके निजी जीवन में खलल पड़ रहा है।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement