बच्चे के सपने में आए भगवान, अगले दिन तालाब किनारे खुदाई में मिली मुर्तियां

Updated on 25 Feb, 2016 at 5:47 pm

Advertisement

एक 12 साल के बच्चे ने सपने में देखा कि तालाब के किनारे भगवान की प्रतिमाएं दबी हुई हैं। सुबह उठकर जब उसने सपने की बात अपने परिजनों को बताई तो किसी ने विश्वास नहीं किया।

तब बालक ने खुद वहां जाकर खुदाई की, तो आश्चर्यजनक रूप से उसे ब्रह्मा और विष्णु की प्रतिमाएं मिलीं। यह चौंकाने वाला मामला हुआ है जबलपुर में।

प्रदेश 18 की रिपोर्ट के मुताबिक, यहां के पाटन तहसील स्थित बिनैकी गांव में रहने वाले 12 वर्षीय बालक अजय यादव के सपने में भगवान आए थे। अगले दिन उसने सबको यह बात बताई तो किसी ने ध्यान नहीं दिया। तब अजय खुद तालाब किनारे जाकर खुदाई में जुट गया तो उसे मुर्तियां मिलीं।

यह खबर गांव में आग की तरह फैल गई। इस घटना के बाद ग्रामीण भी तालाब की खुदाई में जुट गए। इसके बाद एक के बाद एक दर्जनों मुर्तियां मिल चुकी हैं।



घटना की सूचना मिलने के बाद यहां पुलिसबल तैनात किया गया है। पुरातत्व विभाग की एक टीम भी गांव पहुंची है। विशेषज्ञों के मुताबिक, खुदाई में मिली मुर्तियां 13वीं शताब्दी की हैं।

माना जा रहा है कि इस तालाब के नीचे एक मंदिर परिसर दबा हुआ है।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement