Advertisement

मां बनने में हो सकती है दिक्कत, अगर आप करती हैं ये काम!

Updated: 5:27 pm 4 Sep, 2017

Advertisement

वैज्ञानिकों के नए शोध में एक चौंका देने वाली बात सामने आई है। शोध के मुताबिक, रोजाना की इस्तेमाल में आने वाली चीजें मां बनने में बाधक हो सकती हैं। सोफ़ा, कार सीट और योगा मैट अगर महिलाएं इस्तेमाल करती हैं, तो मां बनना मुश्किल हो सकता है।

हार्वर्ड विश्वविद्यालय के एक शोध में बताया गया है कि सोफ़ा, कार और योगा मैट के इस्तेमाल से महिलाओं को गर्भधारण करने में समस्या आ सकती है। इन वस्तुओं के इस्तेमाल से गर्भधारण की संभावना एक तिहाई कम हो जाती है। यह नतीजा ‘इन विट्रो फर्टिलाइजेशन’ के स्टेज से गुजर रही महिलाओं पर किए शोध का है।


Advertisement

शोध नतीजे के अनुसार, फ़ोम भरनेवाला फ्लेम रिटारडेंट से निकलने वाले धूलकण महिलाओं के शरीर के महत्वपूर्ण हार्मोन को नुकसान पहुंचाता है। हावर्ड के टी.एच. चैन स्कूल ऑफ़ पब्लिक हेल्थ ने महिलाओं के यूरीन का परीक्षण किया तथा 211 महिलाओं का उपचार कर फ्लेम रिटारडेंट से बने चीजों के इस्तेमाल से बचने की सलाह दी। इससे पहले हुए एक अध्ययन में पाया गया था कि सोफ़ा, कार सीट और योगा मैट से निकलनेवाली हानिकारक धूल स्पर्म के तैरने की गति को धीमी कर देती है।

रिसर्च टीम की मुखिया डॉ. कैरिगनन के अनुसार:

“धूलकण सेक्स के दौरान गर्भधारण में एक बाधा साबित हो सकते हैं। इसमें बताया गया है कि विकसित देशों में करीब 31 प्रतिशत महिलाएं सोफ़ा, कार सीट और योगा मैट से निकलने वाले धूलकणों के कारण गर्भधारण में अक्षम हैं।”

एडिनबर्ग स्थित क्लिनिकल रिप्रोडक्टिव साइंस यूनिवर्सिटी के प्रोफ़ेसर रिचर्ड एंडरसन ने कहाः ‘इसका अभी कोई ठोस सबूत नहीं पाया गया है। आगे की शोध में ही इसका स्पष्ट कारण पता चल पाएगा।’

ज्ञात हो कि ब्रिटेन में बनने वाले सोफा और कारों के अंदर भरे जाने वाले फ़ोम में फ्लेम रिटारडेंट का प्रयोग सर्वाधिक होता है, जबकि अमेरिका में ज्यादातर जिम में योगा मैट को बनाने के लिए अलग तरीके अपनाए जाते हैं।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement