जल्द चल सकती है देश की पहली कैटरपिलर ट्रेन, बदलेगा पब्लिक ट्रांसपोर्ट का चेहरा

author image
Updated on 30 Dec, 2016 at 2:12 pm

Advertisement

भारतीय रेलवे द्वारा तैयार किया गया ‘कैटरपिलर ट्रेन’ के कांसेप्ट पर जल्द ही काम शुरू हो सकता है। इस रिपोर्ट के मुताबिक, हरियाणा ने कैटरपिलर ट्रेन के लिए पायलेट कॉरिडोर बनाने के विचार पर काम करना भी शुरू कर दिया है।

इस पूरी परियोजना को लेकर हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने अपने कार्यालय को निर्देश दिया है कि वह गुरुग्राम में स्थानीय अधिकारियों के साथ मिलकर इस प्रोजेक्ट पर आगे की रणनीति तैयार करें।

आपको बता दे कि कैटरपिलर ट्रेन का आइडिया भारतीय रेलवे के एक अधिकारी अश्विनी उपाध्‍याय ने एमिल जैकब के साथ मिलकर तैयार किया था। कैटरपिलर ट्रेन के कॉन्सेप्ट को मैसाच्यूसेट इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (MIT) के क्लाइमेट कोलैब कॉन्टेस्ट में पॉपुलर कैटेगरी और जजेज च्वाइस अवॉर्ड दोनों में ही चुना गया था।

ashwani

अश्विनी उपाध्‍याय theweekendleader

इस कैटरपिलर ट्रेन प्रोजेक्ट के लिए इन दोनों ने ही हाल ही में मुख्यमंत्री खट्टर से दिल्ली में मुलाकात भी की।

मुख्‍यमंत्री के अतिरिक्त निजी सचिव राकेश गुप्‍ता ने बताया-


Advertisement

“सीएम को यह आइडिया पसंद आया। उन्‍होंने अधिकारियों को निर्देश दिया कि इस पर आगे काम किया जाए इसलिए स्‍थानीय प्रशासन को सूचना दे दी गई है। इस स्‍टेज पर हम प्रूफ ऑफ कॉन्‍सेप्‍ट के बारे में देख रहे हैं।”

अश्विनी उपाध्याय ने पायलेट कॉरिडोर को लेकर गुरुग्राम के उपायुक्त टी.एल. सत्यप्रकाश और पुलिस आयुक्त संदीप खिरवार से मुलाकात की। हुडा सिटी सेंटर और सुशांत लोक के बीच व्‍यस्‍त इलाके पर वर्तमान में सहमति बनी है।

इस पायलेट प्रोजेक्ट पर लगभग 3 लाख डॉलर तक के खर्च का अनुमान है, वहीं पूरे प्रोजेक्ट के खर्च का अनुमान 20 लाख डॉलर तक बताया जा रहा है।

वजन में हल्की कैटरपिलर ट्रेन 100 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से दौड़ सकती है।  ऐसी ट्रेनों का संचालन जमीन से ऊपर एलिवेटेड रूट पर होता है।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement