बसपा नेता ने नहीं छुए मायावती के पैर, पार्टी से निष्कासित

author image
Updated on 9 Nov, 2016 at 2:19 pm

Advertisement

बहुजन समाज पार्टी ने अपने एक नेता को इस वजह निष्कासित कर दिया है क्योंकि उसने पार्टी सुप्रीमो मायावती के पैर नहीं छुए थे।

इस रिपोर्ट में एक अंग्रेजी दैनिक में छपी रपट का हवाला देते हुए लिखा गया है कि मुजफ्फरनगर की बुढ़ाना विधानसभा सीट से पार्टी उम्मीदवार कंवर हसन को पार्टी ने सिर्फ इस वजह से निकाल बाहर किया है, क्योंकि उन्होंने मायावती के पैर छूने से मना कर दिया था। हसन ने यह भी आरोप लगाया है कि उनसे चार करोड़ रुपए की मांग की गई थी।

Lucknow : BSP supremo Mayawati addresses a press conference at the party office in Lucknow on Sunday. PTI Photo by Nand Kumar (PTI7_24_2016_000129B)

Lucknow : BSP supremo Mayawati addresses a press conference at the party office in Lucknow on Sunday. PTI Photo by Nand Kumar (PTI7_24_2016_000129B)

गौरतलब है कि कंवर हसन इससे पहले भी चर्चा में आ चुके हैं। पाकिस्तान अधीकृत कश्मीर में भारतीय सेना द्वारा किए गए सर्जिकल स्ट्राइक के बाद उन्होंने फिल्म कलाकार नवाजुद्दीन सिद्दीकी को रामलीला में भाग लेने से रोक दिया था।



हालांकि, बहुजन समाज पार्टी नेतृत्व पर इस तरह के आरोप पहले भी लगते रहे हैं। स्वामी प्रसाद मौर्य से लेकर बृजेश पाठक तक ने पार्टी का साथ छोड़ते हुए कुछ इसी तरह का तर्क दिया था।

इससे पहले जून महीने में बुढ़ाना सीट से दो उम्मीदवारों नईम मलिक और मोहम्मद आरिफ को पार्टी ने निकाल बाहर किया था।


Advertisement

इस बीच, पार्टी के शीर्ष नेता नसीमुद्दीन सिद्दीकी ने पूरे मसले पर सफाई दी है। उन्होंने कहा है कि ये इल्जाम गलत हैं। उन्होंने हसन पर आरोप लगाया कि उसने स्थानीय नेताओं का समर्थन नहीं किया।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement