51 साल के इतिहास में BSF को मिली पहली महिला कॉम्बेट ऑफिसर

author image
Updated on 29 Mar, 2017 at 5:27 pm

Advertisement

तनुश्री पारीक देश की पहली BSF महिला अधिकारी बन गई हैं। राजस्थान के बीकानेर से ताल्लुक रखने वाली 25 वर्षीय तनुश्री को पंजाब में भारत-पाकिस्तान सीमा पर तैनाती मिली है।

आपको बता दें कि 51 साल के इतिहास में यह पहला मौका है जब देश के सबसे बड़े अर्ध सैनिक बल BSF को कोई महिला कांबेट अधिकारी मिली है। असिस्टेंट कमांडेंड के रूप में तनुश्री भारत-पाक सीमा पर पंजाब में एक यूनिट की कमांड संभालेंगी।

मध्य प्रदेश के  टेकनपुर में आयोजित दीक्षांत समारोह के बाद तनुश्री पारीक को यह गौरव मिला। इस मौके पर तनुश्री ने पासिंग आउट परेड का नेतृत्व किया और उन्हें सम्मानित भी किया गया।

इस मौके पर केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह भी मौजूद थे। उन्होंने कहा कि उम्मीद है और भी महिलाएं इस पेशे में आएंगी और सीमाओं की सुरक्षा करेंगी।

केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने तनुश्री के अधिकारी बनने पर कहा:


Advertisement

“इस बात की खुशी है कि बीएसएफ को पहली फील्ड ऑफिसर मिली है। उम्मीद करता हूं कि और भी महिला अधिकारी आ रही हैं, जो सीमाओं की सुरक्षा करेंगी। सेना और अर्धसैनिक बलों में महिला अधिकारी भी अपनी जिम्मेदारी का बेहतर तरीके से निर्वहन कर रही हैं।”

तनुश्री साल 2014 में यूपीएससी की परीक्षा में चयनित हुई थीं। उन्होंने बीएसएफ अकादमी में अधिकारियों के 40वें बैच में बतौर सहायक कमांटेंड 52 हफ्तों का प्रशिक्षण भी लिया था।

तनुश्री अपनी इस उपलब्धि पर कहती हैं :

“मैंने बीकानेर में करीब से BSF के कामकाज के तरीके को देखा। मैंने नौकरी के लिए नहीं बल्कि पैशन के लिए BSF को चुना।”

वह स्कूली दिनों से ही सेना में जाने के लिए इच्छुक थी।  इसलिए स्कूली प़़ढाई के दौरान एनसीसी में हिस्सा भी लिया।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement