भारत-पाक सीमा पर पकड़ा गया संदिग्ध कबूतर, पंखों पर लिखा है पाकिस्तानी नंबर

author image
Updated on 28 Sep, 2017 at 4:01 pm

Advertisement

पाकिस्तान को ‘आतंकिस्तान’ कहना किसी भी लिहाज से गलत नहीं है। अमेरिका ने भी पाक को आतंकवादियों का पनाहगाह करार दिया है।

अंतरराष्ट्रीय मंच पर कई बार फटकार खा चूका पाकिस्तान अब भी अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा है। सीमा सुरक्षा बल ने भारत-पाकिस्तान सीमा पर एक संदिग्ध कबूतर पकड़ा है। इसके पंखों पर एक नंबर और छोटा सा संदेश लिखा हुआ है। खुफिया एजेंसियां इस नंबर की जांच करने में जुट गई है। कहा जा रहा है पाकिस्तान ने जासूसी के नापाक मकसद से इस कबूतर को भारत की सीमा पर भेजा है। इस घटना के बाद सुरक्षा एजेंसियां चौकस हो गई हैं।

जब बीएसएफ की 70वीं बटालियन के जवान बीओपी चंडीगढ़ पर गश्त के लिए निकले हुए थे, तब उनकी नजर इस कबूतर पर पड़ी। सुबह के करीबन सात बजे रहे थे। यह कबूतर कंटीली तार पर बैठ हुआ था। जवानों को इस पर संदेह हुआ और जब इसकी जांच की गई तो इस पर एक पाकिस्तानी नंबर 0344-6451092 लिखा हुआ दिखा।

इस नंबर की गुत्थी क्या है, ये जानने के लिए खुफिया जांच एजेंसी तफ्तीश में जुट चुकी हैं। अंदेशा है कि ये नंबर किसी तस्कर या फिर किसी आतंकी संगठन से सम्बंधित हो सकता है।

आपको बता दें कि पहले भी कई बार पाकिस्तान इस तरह कबूतरों के जरिए जासूसी की वारदातों को करने की कोशिश करता रहा है, लेकिन वह अपने आपको पाक बताता रहता है।

हाल ही में संयुक्त राष्ट्र आम सभा में पाकिस्तान की किरकिरी भी हुई थी। पाकिस्तान की स्थायी प्रतिनिधि मलीहा लोधी ने एक तस्वीर दिखाकर गाजा की घायल लड़की को कश्मीर की पैलेट गन की शिकार लड़की बताया था और भारत पर जमकर निशाना साधा था। जिस पर संयुक्त राष्ट्र महासभा के अध्यक्ष मिरोस्लाव लैजेक ने फर्जी तस्वीर दिखाने और भारत को बदनाम करने की साजिश के तहत कड़ी प्रतिक्रिया दी थी।



वहीं, सभा में भारत की ईनम गंभीर ने पाकिस्तान को टेररिस्तान करार देते हुए कहा था कि वह लगातार आतंकियों को पनाह दे रहा है। आतंक को पैदा कर रहा है। वह तो अजीब है कि जो देश ओसामा बिना लादेन और मुल्ला उमर को पनाह देता है, वही पीड़ित होने का दावा कर रहा है। पाकिस्तान में हाफिज सईद जैसे आतंकी बैठकर आतंकवादी गतिविधियां चला रहे हैं। गंभीर ने कहा था कि पाकिस्तान अब टेररिस्तान बन गया है। भारत का पड़ोसी देश आतंक को पैदा कर रहा है और वैश्विक स्तर पर इसे फैला रहा है।

gambhir

intoday


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement