विलक्षण प्रतिभा के धनी इन बच्चों ने देश का सिर गर्व से ऊंचा कर दिया

Updated on 21 Feb, 2018 at 1:36 pm

Advertisement

एक अरब से भी ज़्यादा की आबादी वाले इस देश में प्रतिभाओं की भी कमी नहीं है। जिस उम्र में बच्चे आमतौर पर पढ़ना नहीं चाहते और स्कूल न जाने का बहानी ढूंढ़ते रहते हैं, उसी उम्र में कुछ बच्चों ने ऐसा कारनामा कर दिखाया जिसे जानकर आपको भी उन पर गर्व होगा। आइए, आपको मिलवाते हैं ऐसे ही प्रतिभा-संपन्न कुछ बच्चों से।

1. प्रियांशी सोमानी

गणित के डर से जहां बच्चे आमतौर पर क्लास बंक करते हैं, वहीं सूरत की ये लड़की चुटकियों मे गणित के मुश्किल से मुश्किल सवाल भी हल कर लेती है। इसे चलता-फिरता कैलकुलेटर कहा जाए तो गलत नहीं होगा। हिमांशी ने 2010 में मेंटल कैलकुलेशन वर्ल्ड कप भी जीता था। इस प्रतियोगिता में हिस्सा लेने वाली प्रियांशी सबसे कम उम्र की प्रतिभागी थी। प्रियांशी अकेली प्रतियोगी है जिसके अब तक के 5 मेंटल कैलकुलेशन वर्ल्ड कप्स में सभी चीज़ें सौ फीसदी सही रही है चाहे हो जोड़, गुणा हो या स्क्वायर रूट।

2. अकृत जायसवाल


Advertisement

अकृत दुनिया के सबसे कम उम्र के सर्जन है। आपको जानकर हैरानी होगी कि सिर्फ़ 7 साल की उम्र में ही अकृत ने पहली सर्जरी की थी। उसके पड़ोस की एक 8 साल की लड़की का हाथ बुरी तरह जल गया था, जिसकी वजह से वो अपनी उंगलियां नहीं खोल पा रही थी। अकृत ने उसकी सर्जरी की और जो पूरी तरह सफल भी रही। अकृत का जन्म हिमाचल प्रदेश के नूरपुर में हुआ है।

3. त्रुप्तराज पांड्या

सिर्फ 3 साल की उम्र में त्रुप्तराज ने एक लाइव शो में तलबा बजाकर गिनिज़ बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में अपना नाम दर्ज करवा लिया। आपको जानकर हैरानी होगी कि महज 18 महीने की उम्र से ही त्रुप्तराज ने तबला बजाना शुरू कर दिया था और अब तक वो कई बार दर्शकों के सामने तबला बजा चुके हैं।

4. कौटिल्य पंडित



गूगल बॉय के नाम से मशहूर कौटिल्य का मस्तिष्क किसी सुपर कंप्यूटर से कम नहीं है। उसे 213 देशों के बारे में पूरी जानकारी है और सिर्फ 6 साल की उम्र में ही उसे राजनीति, भूगोल, जीडीपी आदि के बारे में भी सब कुछ पता था। हर सवाल का तुरंत जवाब देने की वजह से ही कौटिल्य का नाम गूगल बॉय पड़ गया।

5. एडमंड टी. क्लिंट

ये छोटा सा बच्चा विलक्षण कलाकार था। महज 7 साल की छोटी सी उम्र में ही दुनिया को अलविदा कहने वाले एडमंड ने इस छोटी सी ज़िंदगी में 25,000 से ज़्यादा पेंटिंग्स बनाई थी। 18 साल की उम्र तक के बच्चों के लिए आयोजित पेंटिंग प्रतियोगिता में एडमंड को पहला स्थान मिला था, उस वक़त् उसकी उम्र सिर्फ 5 साल थी। केरल में एक सड़क का नाम एडमंड के नाम पर रखा गया है।

6. अंगद दरयानी

नौवीं क्लास में दो बार फेल हो चुके अंगद ने ऐसा काम कर दिखाया जिसे देखकर हर कोई हैरान रह गया। अंगद ने 13 साल की उम्र में पहला 3डी प्रिंटर बनाया था, माना जाता है कि ये दुनिया का सबसे सस्ता प्रिंटर है। अपने नए-नए आइडिया को अमली जामा पहनाने के लिए ही अंगद ने स्कूल की पढ़ाई छोड़ दी। अंगद ने अब तक कई चीज़ें बनाई हैं जिसमें सबसे छोटा सोलर पावर बोट, सिंचाई के लिए आटोमैटिक सिस्टम और नेत्रहीनों के लिए बनाया आईपैड शामिल है।

7. किशन श्रीकांत

दस साल की उम्र में ही किशन ने “C/o फुटपाथ” नामक पहली फीचर फिल्म बनाई। गिनिज़ बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड मे किशन का नाम सबसे कम उम्र के फीचर फिल्म डायरेक्टर के तौर पर दर्ज हो चुका है। इतना ही नहीं 10 साल की उम्र तक वो करीब 24 फिल्मों में एक्टिंग भी कर चुके थे।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement