OMG! इस गेंदबाज ने हेलमेट पहनकर की गेंदबाजी, देखिए विडियो

author image
Updated on 26 Dec, 2017 at 3:39 pm

Advertisement

क्रिकेट के मैदान पर अब तक आपने बल्लेबाजों और विकेटकीपर को ही हेलमेट पहनकर खेलते हुए देखा होगा, लेकिन क्या आपने कभी हेलमेट पहनकर किसी बॉलर को गेंदबाजी करते हुए देखा है?

 

क्रिकेट में एक से बढ़कर एक होने वाली विचित्र घटनाओं के बारे में आपने सुना या देखा होगा, लेकिन यह वाकया जरा हटकर है। न्यूजीलैंड में पहली बार एक गेंदबाज ने हेलमेट पहनकर बॉलिंग की।

 

न्यूजीलैंड में खेले जाने वाले सुपर स्मैश टी20 लीग में ये वाकया हुआ। इस लीग में ओटागो क्रिकेट टीम के मीडियम फास्ट गेंदबाज वॉरेन बर्न्स ने नॉर्थर्न डिस्ट्रिक्ट के खिलाफ खेलते हुए हेडगियर (हेलमेट) पहनकर गेंदबाजी की।


Advertisement

 

25 साल के वॉरेन बर्न्स ने नॉर्दर्न नाइट्स के बल्लेबाजों से खुद को बचाने के लिए हेलमेट पहना। उस हेलमेट को बार्नेस और उनके कोच रॉब वॉल्टर ने डिजाइन किया है। देखने में यह साइकलिंग में इस्तेमाल होने वाले हेलमेट जैसा लगता है।

 

उनके कोच ने बताया कि बर्न्स का बोलिंग एक्शन थोडा अलग है। बॉल हाथ से छुटने के बाद उनका फॉलोथ्रू नीचे की ओर जाता है, जिसकी वजह से उनका सिर आगे की ओर आ जाता है। ऐसे में कोई बलेल्बाज अगर सीधा शॉट मारता है तो  बर्न्स के सिर पर चोट लगने की आशंका रहती है।

 

वहीं, टी-20 मैच में बल्लेबाज तेज शॉट मारने की फिराक में रहता है,  इसलिए अपनी सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए बर्न्स ने हेडगियर पहनकर बॉलिंग करने का निर्णय लिया।

 

वॉरेन बर्न्स ने इस हेलमेट को पहनकर नॉर्थर्न डिस्ट्रिक के खिलाफ तीन विकेट झटके। अब माना जा रहा है कि इस तरह के हेलमेट का इस्तेमाल इंटरनेशल क्रिकेट में भी बॉलर इस्तेमाल करते हुए दिखाई दे सकते हैं।

 

यहां देखें इस गेंदबाजी का विडियो:

 

जैसा कि कई ऐसे वाकये हुए हैं जब बॉल लगने से खिलाड़ियों को अपनी जान गंवानी पड़ी है। ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज फिलिप ह्यूज के साथ हुआ हादसा आपको याद ही होगा। शेफील्ड शील्ड टूर्नामेंट के तहत हुए मैच में बल्लेबाजी के दौरान सर पर लगी चोट के कारण 25 वर्ष की अवस्था में ह्यूज की मौत हो गई।

सीन एबॉट की एक बाउंसर गेंद ह्यूज के हेलमेट के निचले हिस्से में घुसकर उनके सर के पीछे जा लगी, जिससे ह्यूज वहीं पिच पर गिर पड़े। ह्यूज उसके बाद से मृत्यु होने तक होश में नहीं आ सके। ऐसे ही भारत के अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी रमन लांबा का 1998 में क्लब मैच के दौरान ढाका में फील्डिंग करने के दौरान सर पर गेंद लगने से निधन हुआ।

firstpost


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement