इतना मुआवजा मिला कि यह गांव बन गया एशिया का सबसे अमीर गांव

Updated on 13 Feb, 2018 at 7:08 pm

Advertisement

गांव को अमूमन गरीब और सामान्य लोगों से जोड़कर देखा जाता रहा है। हालांकि, सभी मामलों में ऐसा नहीं होता है। भारत में कुछेक गांव ऐसे भी हैं, जहां के लोग खासे अमीर हैं। अभी हम बात करने जा रहे हैं, ऐसे ही एक गांव की जो अरुणाचल प्रदेश में पड़ता है। आजकल यह गांव अमीरी को लेकर खूब चर्चा में है।

ये है एशिया का सबसे अमीर गांव ‘बोमजा’!

सरकार द्वारा जमीन अधिग्रहण पर देश में राजनीति होती रही है और सरकार पर अनेक आरोप भी लगते रहे हैं। लिहाजा अब सतर्कता के साथ जमीन अधिगृहित की जाती है। बोमजा गांव में जमीन अधिग्रहण कर सरकार ने गांव वालों को 40,80,38,400 रुपये दिए हैं। लिहाजा यहां बसने वाले सभी लोग करोड़पति हो चुके हैं।

इसके साथ ही यह गांव एशिया का सबसे अमीर गांव बन गया है। गांव के 31 परिवारों में से 29 परिवारों को 1,09,03,813.37 रुपये मिले हैं। शेष दो परिवारों में एक परिवार को 2,44,97,886.79 रुपये, जबकि एक परिवार को मुआवज़े के रूप में 6,73,29,925.48 रुपये मिले हैं। प्रदेश के मुख्यमंत्री पेमा खांडू ने गांव के लोगों को बधाई देकर विकास में सहभागिता के लिए धन्यवाद कहा है।


Advertisement

गौरतलब है कि किसानों से ली गई ज़मीन पर भारतीय सेना के जवानों के लिए घर तैयार होने हैं और यहां सेना की एक यूनिट को भी स्थापित किया जायेगा। सेना के जवान तवांग क्षेत्र में सुरक्षा व्यवस्था दुरुस्त करेगी। ये क्षेत्र भारत के लिए बेहद संवेदनशील है और चीन की टेढ़ी नजर का जवाब देने के लिए सेना तैयार हो रही है।

वैसे अमीर गांव की बात हुई है तो गुजरात के माधापुर गांव के बारे में जरा गूगल कर लें तो और भी जानकारी मिल सकेगी। गांव समृद्ध हुए हैं और हो रहे हैं। अतः कोई गांव से शहर आए तो उसे नजरअंदाज मत कीजिएगा।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement