तृणमूल नेता जाबिर हुसैन के घर धमाका, बढ़ सकती हैं ममता की मुश्किलें

author image
Updated on 22 Jan, 2016 at 4:46 pm

Advertisement

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के लिए एक और बुरी खबर है। यहां के बीरभूम जिले में स्थानीय तृणमूल कांग्रेस नेता जाबिर हुसैन के घर पर हुए बम विस्फोट में दो लोग मारे गए। यह घटना आज तड़के खैरासोल इलाके में हुई।

सांकेतिक तस्वीर।

सांकेतिक तस्वीर।

बताया गया है कि इस जबर्दस्त बम विस्फोट की आवाज कई किलोमीटर दूर तक सुनाई पड़ी थी। दुर्घटना में मारे गए लोगों की शिनाख्त शेख हफीजुल (24) और शेख तारिक हुसैन (27) के रूप में की गई है।

रिपोर्टः बंगाल में अवैध मदरसों से जुड़े हैं आतंक के तार

स्थानीय लोगों का आरोप है कि यहां के अहमदपुर गांव में तृणमूल कांग्रेस के पंचायत स्तर के नेता जाबिर हुसैन ने अपने घर में अवैध हथियारों की फैक्ट्री बना रखी थी। लोग कहते हैं कि हुसैन ने इस घर में बम छुपा रखे थे, और हो सकता है कि दुर्घटनावश में इसमें विस्फोट हो गया हो।


Advertisement

रिपोर्टः मालदा दंगों की लीपापोती कर रही है ममता सरकार

वहीं, तृणमूल कांग्रेस ने दावा किया है जाबिर हुसैन के घर हमले में बम फेंका गया था। इलाके में भारी संख्या में पुलिसबल की तैनाती कर दी गई है और मामले की जांच की जा रही है।

धमाका इतना जबर्दस्त था कि घर की एक दीवार पूरी तरह गिर गई।

धमाका इतना जबर्दस्त था कि घर की एक दीवार पूरी तरह गिर गई।

रिपोर्टः मदरसा छात्रों से ‘जन-गण-मन’ गाने को कहा तो कट्टरपंथियों ने लोहे के रॉड से पीटा

साम्प्रदायिक रूप से अशांत पश्चिम बंगाल में एक के बाद एक हो रही घटनाओं की वजह से सत्तारूढ तृणमूल कांग्रेस पार्टी को जवाब देना मुश्किल हो रहा है। हाल ही में मालदा जिले के कालियाचक इलाके में साम्प्रदायिक हिंसा की वजह से राज्य सरकार की विश्वसनीयता दांव पर लगी हुई है।

यही नहीं, इसी तरह की हिंसा बीरभूम और कूचबिहार जिलों में भी दोहरायी गई थी। राज्य के अलग-अलग इलाकों में बम विस्फोट की घटनाएं आम हैं।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement