बॉलीवुड की ‘जरूरत गर्ल’ रीना रॉय को इस हाल में देख आपका दिल टूट जाएगा

author image
Updated on 5 Jul, 2018 at 1:31 pm

Advertisement

कभी अपनी दिलकश अदाकारी और खूबसूरत सी मुस्कान के साथ लाखों दिलों पर राज करने वाली बीते ज़माने की अभिनेत्री रीना रॉय का अपना दौर रहा है। उनका नाम बॉलीवुड की उन चंद अभिनेत्रियों में शुमार किया जाता है जिन्होंने अपने मादक और दिलकश अभिनय से लाखों  दिलों पर राज किया है।

रीना रॉय यानी जरूरत गर्ल।

रीना रॉय फिल्म ‘ज़रूरत’ में इंटिमेट सीन और सेमी न्यूड सीन देकर बॉलीवुड की ‘ज़रूरत गर्ल’ बन गयी थी। ‘ज़रूरत’ रीना की पहली फिल्म थी। लेकिन उनकी ख्याति  ‘नागिन’ से मिली। रीना का जितेन्द्र के साथ बारिश में फिल्माया गया गीत ‘अब के सावन’ मन में आग लगाता है। तो ‘शीशा हो या दिल हो’  सिनेप्रेमियों को ‘आशा’ की राह दिखाता है।

 

 

हाल ही में एक फंक्शन के दौरान जब वो दिखीं, तो यक़ीन नहीं हुआ कि ये वो ही रीना रॉय हैं, जिनकी झलकभर से लाखों दिलों की धड़कने कभी थम जाया करती थीं और जिनकी अदाएं टूटे हुए दिलों को जोड़ने का सबब बनती थीं। लेकिन, उनको इस हाल में देखकर उनके उन फ़ैंस को करारा झटका लग सकता है।

 

 

80 के दशक में छरहरी सी काया की मल्लिका रीना रॉय अब 60 के ऊपर होने वाली है और उनका बढ़ा हुआ  वजन देखकर उन्हें पहचानना भी मुश्किल हो गया है। परंतु एक दौर था जब उनके नाम नागिन, जानी-दुश्मन, नसीब, बदले की आग, कालीचरण, हथकड़ी, प्यासा सावन, आशा जैसी कई बड़ी सुपरहिट फिल्में रहीं।


Advertisement

 

 

रीना उस दौर की सफल अभिनेत्रियों में से एक थी उस दौर में उनकी प्रतिस्पर्धा हेमा मालिनी से थी।  हालांकि, सिर्फ़ 1982 में उनकी 13 रिलीज हुई फ़िल्मो में से 8 सफल साबित हुई थीं। रीना रॉय ने जीतेन्द्र के साथ  22 फिल्मों में काम किया है, जिनमें 16 फ़िल्मो में रीना ने प्रेमिका का रोल निभाया है।

वहीं रीना रॉय और शत्रुघ्न सिन्हा ने 16 फिल्मों में रोमांटिक जोड़ी के रूप में काम किया है। यह उस दौर की सुपरहिट जोड़ी थी। इस जोड़ी के नाम 172-82 के बीच  11 हिट फ़िल्में थीं।

 

 

रीना रॉय ने अपने फिल्मी करियर में कई यादगार भूमिकाएं निभाई हैं। उनकी प्रमुख फिल्मों में ‘गुमराह’, ‘नागिन’, ‘जानी दुश्मन’, ‘प्यासा’ सावन’,’नसीब’, ‘सनम तेरी कसम’, ‘कर्मयोगी’, ‘मदहोश’, ‘बारूद’, ‘संग्राम’,’पापी’, ‘धर्म कांटा’, ‘प्रेम तपस्या’, ‘राजतिलक’, ‘हम दोनों’, ‘गुलामी’, ‘आदमी खिलौना है’, ‘कलयुग’, ‘जियो शान से’, ‘राजकुमार’,’ गैर’, और ‘रिफ्यूजी’ शामिल हैं।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement