बॉलीवुड के 8 दमदार मोनोलॉग जो यकीनन आपको प्रभावित करेंगे

Updated on 25 Aug, 2018 at 3:17 pm

Advertisement

बॉलीवुड फिल्में आम लोगों की ज़िंदगी पर गहरा असर डालती हैं। कुछ फिल्में इतनी बेहतरीन होती हैं कि सालों-साल लोग उसे याद रखते हैं, फिर चाहे कलाकारों की एक्टिंग हो, गाने या फिर संगीत। फिल्म में डायलॉग का भी बहुत अहम रोल होता है कुछ डायलॉग इतने बेहतरीन लिखे होते हैं और एक्टर उन्हें इतनी खूबसूरती से परदे पर उतारता है कि हो हमेशा के लिए यादगार बन जाते हैं।

 

best bollywood powerful monologues

 

एक्टर द्वारा डायलॉग को बोलने का अंदाज़ मोनोलॉग (सिर्फ एक लाइन नहीं, लंबा डायलॉग) कहलाता है। चलिए आपको बताते हैं बॉलीवुड के कुछ बेहतरीन मोनोलॉग जो दर्शकों के ज़ेहन में हमेशा ताज़ा रहेंगे।

 

1. शाहरुख खान (चक दे इंडिया)

 

 

बॉलीवुड का किंग ऑफ रोमांस एक कोच के रूप में इतनी गंभीर और शानदार एक्टिंग करेगा किसी ने सोचा भी नहीं होगा, मगर चक दे इंडिया में शाहरुख ने अपनी एक्टिंग से साबित कर दिया कि वो सिर्फ रोमांस ही नहीं एक्टिंग के भी किंग हैं। फिल्म में ड्रेसिंग रूप के एक सीन में शाहरुख कहते हैं ‘सत्तर मिनट’ इसे कहने का शाहरुख का अंदाज़ गज़ब का था, इन दो शब्दों ने उनकी टीम को तो जीत दिलाई है, दर्शकों को भी बहुत प्रभावित किया।

 

2. अमिताभ बच्चन (पिंक)

 

 

इस फिल्म के डायलॉग ज़बर्दस्त थे और हमारे समाज की कड़वी सच्चाई बयां करते हैं, जिसे आमतौर पर फिल्मों में कम ही दिखाया जाता है। कोर्टरूम में जब अमिताभ कहते हैं ‘ना का मतलब ना होता है’, तो कोर्टरूम के साथ ही फिल्म देख रहे दर्शकों की बोलती भी बंद हो जाती है। क्योंकि हमारे समाज लड़के और लड़कियों को जज करने का पैमाने हमेशा से अलग रहा है। फिल्म देखन के बाद लड़को की वो सोच बदल जाएगी जो अब तक लड़कियों की ना को ही हां कहते और समझते आए थे।

 

3. तापसी पन्नू- मुल्क

 

powerful monologues bollywood monologues

 

तापसी पन्नू की बेहतरीन फिल्मों में से एक मुल्क है। ये भारत में एक मुस्लिम परिवार के अस्तित्व के संकट की कहानी है। कोर्ट में आशुतोष राणा से बहस के दौरान तापसी बेहद इमोशनल तरीके से अपनी बात रखती हैं। इस शानदार परफॉर्मेंस के लिए दर्शक हमेशा तापसी को याद रखेंगे।

 

4. आलिया भट्ट (राज़ी)

 


Advertisement

 

राज़ी ने आलिया के करियर ग्राफ को और ऊपर उठा दिया। इतन कम उम्र में आलिया ने इस फिल्म में एक भारतीय जासूस की भूमिका को जिस बखूबी ने निभाया है, इसके लिए उनकी जितनी तारीफ की जाए कम है। फिल्म के अंत में आलिया की शानदार स्पीच ने हर किसी को प्रभावित किया और इसे बॉलीवुड के दमदार मोनोलॉग में से एक बन गई।

 

5. नसीरुद्दीन शाह (अ वेडनसडे)

 

 

इस फिल्म का मोनोलॉग ‘बेवकूफ कॉमन मैन’ बहुत लोकप्रिय हुआ था। इस चंद शब्दों को नसीरुद्दी ने गज़ब तरीके से बोला था। नसीरुद्दीन फिल्म में कई तरह की भावनाओं को दिखाते हैं, इसके ज़रिए वो अपने उस फैसले की वजह बताने की कोशिश करते हैं कि आखिर क्यों उन्होंने खुद ही आतंकवाद से निपटने का मन बनाया। नसीरुद्दीन की शानदार एक्टिंग और डायलॉग डिलिवरी की वजह से ही दर्शक पूरे समय स्क्रीन पर नज़रे टिकाए बैठे रहते हैं।

 

6. कार्तिक आर्यन- प्यार का पंचनामा

 

 

कार्तिक आर्यन हर उस लड़क के कहानी बयां करते हैं जो अपनी गर्लफ्रेंड के ज़रूरत से ज़्यादा ख्याल रखने वाले रवैये से परेशान हो गया है। एक सीन में कार्तिक जिस तरह से गर्लफ्रेंड को लेकर अपनी फ्रस्ट्रेशन निकालते हैं, वाकई कमाल है और ये फिल्म का शानदार मोनोलॉग बन जाता है। हालांकि, कार्तिक की बातें बहुत सी महिलाओं को अच्छी नहीं लगी थी, लेकिन वो गर्लफ्रेंड से परेशान हो चुके लड़के का दर्द बयां कर रहे थे।

 

7. शाहिद कपूर (हैदर)

 

 

इस फिल्म में शाहिद ने एक कश्मीरी लड़के की भूमिका को बहुत बेहतरीन ढंग से निभाया था। एक सीन में जब वो स्थानीय लोगों को प्रशासनिक भ्रष्टाटार के बारे में बताते हैं, उनका वो भाषण फिल्म का बेहतरीन मोनोलॉग है। हैदर में अपनी एक्टिंग से शाहिद ने फैंस का दिल जीत लिया था।

 

8. श्रीदेवी (इंग्लिश-विंग्लिश)

 

 

श्रीदेवी ने एक से बढ़कर एक शानदार फिल्में की है, इंग्लिश-विंग्लिश भी उन्हीं में से एक है। इस फिल्म के अंत में श्रीदेवी कुछ ऐसा कहती है जो ज़िंदगी के प्रति नया नज़रिया देता है। उनका ये मोनोलॉग बहुत दमदार था, इससे यकीनन महिलाओं को प्रेरणा मिली होगी।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement