बकरीद के मौके पर बांग्लादेश की सड़कों पर बहा खूनी पानी

Updated on 6 Sep, 2017 at 3:09 pm

बकरीद के मौक़े पर सोशल साइट्स वायरल हुई एक बच्ची की फोटो, जिसमें वह सड़क पर लाल पानी में खड़ी मुस्कुरा रही है। बांग्लादेश की इस तस्वीर के सोशल मीडिया पर वायरल होते ही चारों ओर इसकी आलोचना होने लगी। इस पर बांग्लादेश के एक चैनल ने इन तस्वीरों को फर्जी करार दिया। कुछ लोगों ने कहा कि छह साल की बच्ची कैसे हंसते हुए तस्वीर खिंचवा सकती है। लोगों ने आरोप लगाया कि यह बकरीद के दौरान मुसलमानों को बदनाम करने के लिए हर साल वायरल की जाती है, लेकिन अब इस तस्वरी का सच सामने आ गया है।

दरअसल, सोशल मीडिया पर डॉक्यूमेंट्री फोटोग्राफर नासिप इम्तियाज ने कहा है कि उसने ये तस्वीर खुद बांग्लादेश में खींची हैं।

पत्रकार नासिफ इम्तियाज ने इस तस्वीर को दो सितंबर को फेसबुक पेज पर शेयर किया था। तस्वीर के साथ उन्होंने अन्य तस्वीरें भी कमेंट में पोस्ट की हैं। वीडियो भी शेयर किए हैं।

नासिफ इम्तियाज ने तस्वीर शेयर करते हुए लिखा हैः



“पिछली बार मैंने फेसबुक पर इस तस्वीर को शेयर किया, लेकिन तस्वीर पर जो प्रतिक्रिया आई हैं, उसे लेकर मैं इसे दोबारा शेयर करने और इससे जुड़े शीर्षक लिखने के लिए मजबूर हुआ हूं। बहुत से लोगों ने तस्वीर पर अपमानजनक भाषा का इस्तेमाल किया। भद्दे कमेंट किए। मैंने सफेद पानी को लाल बनाया है, लेकिन मैंने अब सच्चाई साबित करने के लिए कमेंट बॉक्स में एक वीडियो शेयर किया है, जहां मैं खुद उस सड़क पर घूम रहा था।”

बच्ची की फोटो वायरल होने के बाद से इस्लाम समर्थक लगातर इसे फोटोशॉप्ड इमेज बता रहे थे। वैसे आपको बता दें कि बांग्लादेश में पिछले साल बकरीद के मौके पर भी कुछ ऐसा ही खूनी नजाता दिखा था और इस बार भी हालात वैसे ही हैं।

इम्तियाज़ के इस पोस्ट को 1.4k शेयर और 2500 से ज़्यादा कमेंट्स मिल चुके हैं।

आपके विचार