जानिए भाजपा की ऐतिहासिक जीत से कैसे निर्मल होगी गंगा

author image
Updated on 14 Mar, 2017 at 12:03 pm

Advertisement

हाल ही में उत्तर प्रदेश व उत्तराखंड में संपन्न हुए विधानसभा चुनावों में भारतीय जनता पार्टी की ऐतिहासिक जीत के कई मायने हैं। यह जीत गंगा को निर्मल बनाने के उद्येश्य से भी अहम है। इस जीत के बाद उम्मीद बन रही है कि गंगा सफाई मिशन को लेकर तेजी आएगी, क्योंकि गंगा नदी जिन पांच राज्यों से होकर गुजरती है, उनमें से तीन में अब भाजपा की सरकार है।

केन्द्र सरकार गंगा को निर्मल बनाने के लिए जारी परियोजनाओं पर अधिक मुश्तैदी से काम कर सकेगी।

‘नमामि गंगे’ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की महात्वाकाक्षी परियोजना है। इसके तहत गंगा नदी को पूरी तरह निर्मल बनाए जाने का कार्यक्रम चल रहा है। वर्ष 2015 में शुरू किए गए इस परियोजना के लिए 20 हजार करोड़ रुपए का बजट रखा गया है। केन्द्र व राज्यों में भाजपा की सरकार होने की वजह से इन परियोजनाओं के समन्वय और निरीक्षण को अविलंब पूरा किया जा सकेगा।


Advertisement

गंगा नदी करीब 1 हजार किलोमीटर की यात्रा तय करती है। इसमें अधिकतर हिस्सा उत्तराखंड से होते हुए उत्तर प्रदेश गुजरता है। गंगा नदी सबसे अधिक प्रदूषण का शिकार उत्तर प्रदेश में है, जहां औद्योगिक इकाइयों की कचरा सीधे तौर पर नदी में गिरता है। वहीं, गंगा के रास्ते में पड़ने वाले झारखंड में भी भारतीय जनता पार्टी का ही शासन है।

बिहार में जदयू-राजद गठबंधन और पश्चिम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस की सत्ता है। इन राज्यों में गंगा एक्शन प्लान में थोड़ी-बहुत दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है। यही वजह है कि अब सरकार के पास जमीनी स्तर पर कार्य के पूरा न होने की कोई वजह नहीं होगी।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement