Topyaps Logo

Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo

Topyaps menu

Responsive image

तीन राज्यों में कमल क्यों नहीं खिल पाया, हार की रहीं ये पांच वजहें

Published on 12 December, 2018 at 7:21 pm By

2019 में लोकसभा चुनाव होने वाले हैं, इससे पहले ही बीजेपी को विधानसभा चुनावों में मुंह की खानी पड़ी है। हर कहीं इस बात को लेकर चर्चा होने लगी है मोदी का जादू धीरे-धीरे फिका पड़ने लगा है। मीडिया में राहूल गांधी को पप्पू कह कर खील्ली उड़ाने वाले बीजेपी नेता आज अपनी हार पर काफ़ी शर्मिंदा है। वहीं कुछ जानकारों ने बीजेपी की हार के कई ऐसे कारण बताए हैं, जिसे मोदी सरकार ने हल्के में लिया था।


Advertisement

 

 
 

किसानों की नाराज़गी

मध्यप्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ की लगभग 70 से 80 फ़ीसदी आबादी ग्रामीण है, जो कृषि पर निर्भर है। लेकिन बीते चार सालों में किसानों की स्थिति बद से बत्तर होती चली गई। मध्य प्रदेश में बीते 15 सालों से बीजेपी की सरकार थी। कुछ महीनों पहले मंदसौर इलाके में किसानों के विरोध-प्रदर्शन के दौरान गोली लगने से कई किसानों की मौत हो गई। यही नहीं देशभर के किसान एकजुट होकर दिल्ली में अपनी मांगों को लेकर पहुंचे, जहां उन्हें दिल्ली की सीमा से दूर रखा गया। साथ ही उनकी मांगों पर गंभीरता से सरकार ने विचार तक नही किया।

 
 

नोटबंदी और GST

नोटंबदी और GST के आने से व्यापारियों को खासा नुकसान पहुंचा। व्यापारियों की माने तो नोटबंदी के कारण उनकी जमापूंजी खत्म हो गई। इसकी वजह से एक बड़ा व्यापारी वर्ग बीजेपी के इस कदम से काफ़ी नाराज़ रहा। इन्हीं मुद्दों को उठाते हुए राहुल गांधी ने जमकर चुनावी प्रचार किया, जिसका फ़ायदा उनकी पार्टी को मिला।



 
 

बेरोज़गारी


Advertisement

देश में बेरोज़गारी एक अहम समस्या है, मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ में बीते 15 सालों से बीजेपी सरकार राज कर रही थी। मोदी सरकार ने हर साल 2 करोड़ लोगों को रोज़गार देने का वादा किया था। लोगों को उम्मीद थी बेरोज़गारी खत्म हो जाएगी, लेकिन युवाओं को रोज़गार न मिलना बीजेपी की हार का मुख्य कारण बना। 

 
 

केंद्र और राज्य के बीच तालमेल में कमी

मध्यप्रदेश में शिवराज, छत्तीसगढ़ में रमन सिंह और आखिर में राजस्थान से वसुंधरा राजे सिंधिया। ये सभी बीजेपी सरकार के बड़े चेहरे हैं, लेकिन इनके अलावा पार्टी में कोई ऐसा चेहरा नहीं है, जो इन सबका मुकाबला कर सके। इसकी वजह से तीनों राज्यों में केंद्र की पकड़ कमजोर बनी रही, जबकि ये चेहरे राज्य में अपनी छवि को प्रबल बनाने में नाकामयाब रहे। 

 
 

एंटी इनकंबेंसी


Advertisement

बदलाव किसे पसंद नहीं। यही वजह है मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ राज्यों में बीते 15 सालों से राज करने वाली बीजेपी को बदलाव के नाम पर हार का मुंह देखना पड़ा। दरअसल यहां की एक पीढ़ी जन्म से लेकर अब तक सिर्फ़ बीजेपी पार्टी को राज करता देख रही है, लेकिन अब वो बदलाव चाहती है। ऐसा नहीं है जनता के मन में बीजेपी को लेकर गुस्सा है, बल्कि यहां के लोग बीजेपी के काम से काफ़ी खुश थे, मगर मध्य प्रदेश की जनता एक बार कांग्रेस को सत्ता में लाना चाहती थी। वही राजस्थान की जनता वसुंधरा के काम से खुश नहीं थी। इसकी वजह से बीजेपी पार्टी को राजस्थान में हार का सामना करना पड़ा।

Advertisement

नई कहानियां

Sapna Choudhary Songs: सपना चौधरी के ये गाने किसी को भी थिरकने पर मजबूर कर दें!

Sapna Choudhary Songs: सपना चौधरी के ये गाने किसी को भी थिरकने पर मजबूर कर दें!


जानिए कैसे डाउनलोड करें YouTube वीडियो, ये है आसान तरीका

जानिए कैसे डाउनलोड करें YouTube वीडियो, ये है आसान तरीका


प्रधानमंत्री आवास योजना से पूरा होगा ख़ुद के घर का सपना, जानिए इससे जुड़ी अहम बातें

प्रधानमंत्री आवास योजना से पूरा होगा ख़ुद के घर का सपना, जानिए इससे जुड़ी अहम बातें


ब्रह्माजी को क्यों नहीं पूजा जाता है? एक गलती की सज़ा वो आज तक भुगत रहे हैं

ब्रह्माजी को क्यों नहीं पूजा जाता है? एक गलती की सज़ा वो आज तक भुगत रहे हैं


Hindi Comedy Movies: बॉलीवुड की ये सदाबहार कॉमेडी फ़िल्में, आज भी लोगों को गुदगुदाने का माद्दा रखती हैं

Hindi Comedy Movies: बॉलीवुड की ये सदाबहार कॉमेडी फ़िल्में, आज भी लोगों को गुदगुदाने का माद्दा रखती हैं


Advertisement

ज़्यादा खोजी गई

टॉप पोस्ट

और पढ़ें Politics

नेट पर पॉप्युलर