पादरी का फरमान, छोटे कपड़े पहनकर चर्च न आएं लड़कियां

author image
Updated on 3 Apr, 2017 at 5:46 pm

Advertisement

लड़कियों को किस तरह के कपड़े पहनने चाहिए और किस तरह के नहीं, इसे लेकर कोई न कोई आए दिन नया फरमान सुनाते रहता है। अब इस बार केरल के एक चर्च ने लड़कियों के कपड़ों पर आपत्ति जताई है।

चर्च के पादरी ने लड़कियों को चर्च में स्कर्ट पहनने से परहेज करने का फरमान सुना डाला है। केरल के इडुक्कि डायोसिन बुलेटिन में छपे एक पत्र के मुताबिक, पादरी ने लड़कियों को चर्च में घुटनों से ऊपर तक की ड्रेस न पहनने की नसीहत दी है। यहीं नहीं, बल्कि पादरी ने लड़कियों को बाईबिल पढ़ने के दौरान भी छोटे कपड़े न पहनने को कहा है।


Advertisement

पादरी मार मैथ्यू अनीकुजिक्कटिल ने बच्चों के पालन पोषण के तरीकों पर भी चर्चा की। पत्र में उन्होंने लिखा है कि माता-पिता को अपने बच्चों को चर्च अथॉरिटी का सम्मान और उसके नियम का पालन करना सीखाना चाहिए।

आगे वह कहते हैं कि बच्चों के सामने पादरियों और ननों को किसी बात के लिए दोष नहीं देना चाहिए, ताकि बच्चों पर गलत असर न पड़े। इसके अलावा पत्र में बच्चों को सोशल मीडिया से भी दूर रखने को कहा गया है।

bishop

पादरी मार मैथ्यू अनीकुजिक्कटिल christianmetro

पादरी के इन निर्देशों पर सायरो मलाबार चर्च के आधिकारिक प्रवक्ता फ्रेड जिमी पूचकट्ट ने कहा कि यह सभी निर्देश लड़कियों की सुरक्षा के लिहाज से अच्छे हैं। ये निर्देश लड़कियों को सार्वजनिक जगहों पर सुरक्षित महसूस कराने में सहायक होंगे।

आपको बता दें कि इसी साल  केरल के ही कन्नूर जिले के कोत्तियूर में एक नाबालिग लड़की का यौन उत्पीड़न करने और उसे गर्भवती करने के आरोप में एक चर्च के पादरी को गिरफ्तार किया गया है। ऐसे में इस तरह का फरमान कई सवाल खड़े करता है। आखिर लड़कियों पर ही बंदिशे क्यों?

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement