युद्धक्षेत्र में क्रैश हुए इस पक्षी ड्रोन ने मचाई खलबली, जासूसी के लिए उपयोग

author image
Updated on 16 Jul, 2016 at 5:27 pm

Advertisement

किसी भी युद्धक्षेत्र के आकाश में ड्रोन की तैनाती को अनहोनी घटना नहीं माना जा सकता। लेकिन अगर सुरक्षा एजेन्सियां यह पता न लगा सकें कि यह ड्रोन ही है या कुछ और, तो खलबली स्वाभाविक है।

डेली मेल की इस रिपोर्ट के मुताबिक, सोमालिया की राजधानी मोगादिशु के नजदीक कुछ ऐसा ही हुआ है। इस युद्धग्रस्त क्षेत्र में देश के सैनिकों ने एक अजीब आकार वाले ड्रोन को मार गिराने का दावा किया है।

Drone_1

इस ड्रोन का आकार एक बड़े पक्षी सरीखा है। यह एक चील की तरह दिखता है। खास बात यह है कि इसके दोनों पंख किसी बड़े पक्षी की तरह ही मुड़ भी सकते हैं और फरफरा सकते हैं।

इस ड्रोन की खासियत यह है कि पक्षी की तरह दिखने की वजह से इसके जरिए की जा रही निगरानी के बारे में कोई अंदाजा भी नहीं लगा सकता। इस डिवाइस को दो प्रोपेलर्स से ऊर्जा हासिल होती है, जो इसे किसी पक्षी की तरह मुड़ने में सहायता प्रदान करते हैं।

हाल के दिनों में डिजायनर ड्रोन का चलन बढ़ा है। इस तरह की तकनीक को बायनिक बर्ड कहा जाता है।


Advertisement

Drone_3

माना जाता है कि इस तरह के ड्रोन पहली बार अमेरिका ने विकसित किए थे। इन्हें किसी लॉन्चर या हाथ से आसमान की तरफ फेंककर तैनात किया जा सकता है।

फिलहाल इस पक्षीनुमा ड्रोन के मिलने से सुरक्षा एजेन्सियों की नीन्द उड़ गई है।

फोटोः डेली मेल

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement