‘मुझे चाहिए था सेकेन्ड डिविजन, चाचा ने टॉप करा दिया’

author image
Updated on 27 Jun, 2016 at 12:02 pm

Advertisement

बिहार में इन्टर आर्ट्स की पूर्व टॉपर रूबी राय ने कहा है कि उसे तो बस सेकेन्ड डिविजन चाहिए था, लेकिन चाचा बच्चा राय ने टॉप करा दिया।

रूबी ने बताया कि विशुन राय कॉलेज के प्राचार्य अमित कुमार उर्फ बच्चा राय रिश्ते में उसके चाचा लगते हैं। उसने यह भी बताया कि वह गांव की लड़की है और उसे यह नहीं पता कि उसने कैसे टॉप किया है।

रूबी ने एसआईटी को बताया कि उसने फॉर्म विशुन राय कॉलेज से भरा था। परीक्षा से ठीक पहले उसके पिता ने कहा था रोल नम्बर और हस्ताक्षर ठीक से करना। बाकी हम देख लेंगे। परीक्षा के बाद उन्होंने पूछा था कि कौन सा डिविजन चाहिए।

रूबी ने बताया कि पैसे के लेन-देन के बारे में उसे जानकारी नहीं है।

रूबी राय ने पूछताछ में बताया कि परीक्षा में वह खुद बैठी थी और अपना रोल नंबर उसने खुद भरा था। उसने खुद ही उपस्थिति पंजिका पर हस्ताक्षर भी किया था।



पुलिस के पूछने पर उसने बताया कि परीक्षा में कौन-कौन से सवाल पूछे गए थे, तो उसने बताया कि अंकल परीक्षा दिए बहुत दिन हो गया है। याद नहीं कौन-कौन से सवाल पूछे गए थे।

रूबी राय को गांधी मैदान सिविल कोर्ट में पेशी के बाद रूबी को बेउर जेल भेज दिया गया है।

इससे पहले रूबी शनिवार को बोर्ड पहुंचीं तो अलग-अलग विषय के विशेषज्ञों की टीम ने उसका टेस्ट लिया।

उसके सामने वर्ष 2016 की इन्टर आर्ट्स परीक्षा का ही प्रश्न पत्र रखा गया था। इस दौरान एक एक्सपर्ट ने जब रूबी से कहा कि तुलसीदास के बारे में बताइए? तो उसने जवाब लिखा, तुलसीदासजी प्रणाम।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement