Topyaps Logo

Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo

Topyaps menu

Responsive image

चिटफंड कंपनी नहीं चली तो कर ली पढ़ाई और बन गया टॉपर

Published on 2 June, 2017 at 11:50 am By

बिहार का टॉपर विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। परीक्षा परिणाम निकलने के बाद दो दिनों तक गायब रहने के बाद गणेश कुमार जब सामने आया तो विवाद भी साथ लेकर आया। इंटर में आर्ट्स विषयों के साथ टॉप करने वाले गणेश को मामूली सवालों के जवाब नहीं मालूम थे, जो कई सवाल खड़े कर गए।

बिहार विद्यालय परीक्षा समिति की पिछले साल से ही रिजल्ट को लेकर किरकिरी हो रही है।


Advertisement

आर्ट्स टॉपर गणेश कुमार को यह नहीं पता है कि गद्य और पद्य में क्या अंतर है? उसे यही भी नहीं पता है कि सुर-ताल में क्या फर्क है? जब हम जोर से और धीरे बोलते हैं, तो उसे ही सुर-ताल कहते हैं। गणेश को हिंदी में 100 में 92 और संगीत में 100 में 83 अंक मिले हैं।

इस बीच, बिहार के शिक्षा मंत्री अशोक चौधरी ने गणेश कुमार के साथ खड़े रहने की बात कही है।

बिहार विद्यालय शिक्षा परिषद ने भी गणेश को क्लीन चिट दी है।




Advertisement

अब जो मीडिया रिपोर्ट्स में बात कही जा रही है, वह हैरान करने वाली है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, गणेश कुमार वर्ष 2009 से 2014 तक झारखंड के गिरिडीह स्थित सरिया में चिट-फंड कंपनी चलाता था। घाटा होने के बाद गणेश कुमार अपना शहर छोड़ कर समस्तीपुर आ गया। यहां ट्यूशन करना शुरू किया। फिर पढ़ाई करने की सोची। उसने संजय गांधी हाइस्कूल, लक्षमिनिया, शिवाजीनगर से मैट्रिक की परीक्षा पास की। इसके बाद रामनंदन सिंह जगदीप नारायण उच्च माध्यमिक इंटर कॉलेज, चकहबीव से इंटर की परीक्षा दी।


बिहार विद्यालय परीक्षा समिति की मानें तो इस बार सारे टॉपर की उत्तर पुस्तिका की पूरी जांच हुई थी। इसी आधार पर रिजल्ट निकाला गया है। गड़बड़ी की कोई गुंजाइश नहीं है। समिति के अनुसार गणेश के सारे विषयों में अंक सही हैं। गणेश कुमार को हिंदी, एनआरबी, संगीत, इतिहास और समाजशास्र में डिस्ट्रिंग्शन अंक प्राप्त हुए हैं। हिंदी में 92, एनआरबी में 78, म्यूजिक में 83, इतिहास में 80 और समाजशास्त्र में 80 अंक आये हैं। लेकिन, मनोविज्ञान में गणेश कुमार को सिर्फ 59 अंक आये हैं। मनोविज्ञान की थ्योरी में सिर्फ पास मार्क्स 33 में 33 आये हैं। वहीं 67 अंक के प्रैक्टिकल में उसे 26 अंक प्राप्त हुए हैं।

हालांकि, गणेश कुमार की योग्यता और परीक्षा परिणाम में कोई तालमेल नहीं दिख रहा है।


Advertisement

गणेश कुमार जिसरामनंदन सिंह जगदीप नारायण उच्च माध्यमिक इंटर काॅलेज, चकहबीव में नामांकन लिया, वह तीन कमरों में चलता है। उस कॉलेज में न तो क्लास होती है और न ही पढ़ाई ही ढंग से होती है। बताया जाता है कि गणेश कुमार ने कभी क्लास भी नहीं की। बस नामांकन करवाया और पढ़ाई करता रहा। बिना कॉलेज में पढ़ाई किये और टीचर्स के संपर्क में रहे गणेश कुमार टॉपर बन गया है। सवालों से शुरू हुआ सिलसिला सवाल पर सवाल खड़े कर रहे हैं।

Advertisement

नई कहानियां

जानिए क्या है वास्तु शास्त्र, इसका महत्व और इतिहास

जानिए क्या है वास्तु शास्त्र, इसका महत्व और इतिहास


जामिनी रॉय: एक ऐसा महान चित्रकार, जिन्होंने चित्रकारी को दिया नया आयाम

जामिनी रॉय: एक ऐसा महान चित्रकार, जिन्होंने चित्रकारी को दिया नया आयाम


पाक पीएम इमरान खान ने विश किया हैप्पी होली, ट्विटर पर लोगों ने लगा दी लताड़

पाक पीएम इमरान खान ने विश किया हैप्पी होली, ट्विटर पर लोगों ने लगा दी लताड़


होली पर रंगों से ऐसे करें अपनी त्वचा की हिफ़ाज़त, अपनाएं ये घरेलू तरीके

होली पर रंगों से ऐसे करें अपनी त्वचा की हिफ़ाज़त, अपनाएं ये घरेलू तरीके


यहां होली में जमकर होती है पुरुषों की धुनाई, जानिए क्यों?

यहां होली में जमकर होती है पुरुषों की धुनाई, जानिए क्यों?


Advertisement

ज़्यादा खोजी गई

और पढ़ें Education

नेट पर पॉप्युलर