इस महिला की वजह से साढ़े 8 करोड़ में बिका यह क्रिकेटर, तय थी कौड़ियों में नीलामी

Updated on 29 Jan, 2018 at 11:32 am

Advertisement

IPL में खिलाड़ियों की नीलामी चर्चा का विषय है। बेंगलुरू में 27 व 28 जनवरी को हुई नीलामी में कुल 169 खिलाड़ियों पर बोली लगी और इसके साथ ही इंडियन प्रीमियर लीग के 11वें सीजन के लिए नीलामी की प्रक्रिया का समापन हो गया है। 18 अन्य खिलाड़ियों को उनकी फ्रेन्चाइजी टीम ने पहले ही रिटेन कर लिया था। इस तरह अलगे सीजन में अब 187 खिलाड़ी खेलते हुए नजर आएंगे।

इस बार टूर्नामेन्ट की शुरुआत 6 अप्रैल को होगी। इसके अगले ही दिन यानी कि 7 अप्रैल से मैच खेले जाएंगे।

 

इस बार बॉलर जयदेव उनादकट जहां सबसे महंगे इंडियन बनकर उभरे वहीं, सबसे महंगे खिलाड़ी एकबार फिर इंग्लिश ऑलराउंडर बेन स्टोक्स रहे। मोहम्मद शमी से लेकर पीयुष चावला व प्रवीण कुमार तक पर बढ़िया बोली लगी और ये अलग-अलग टीम के हिस्से चले गए।

फिलहाल हम बात कर रहे हैं भुवनेश्वर कुमार की।

 

भुवनेश्वर कुमार आपीएल के इस सीजन में सनराइजर्स हैदराबाद टीम की तरफ से खेलेंगे। उन्हें आठ करोड़ रुपए में रिटेन कर लिया गया है।


Advertisement

 

यह नीलामी भुवनेश्वर कुमार के सफल होने का सर्टिफिकेट है।

 

लेकिन क्या आपको पता है कि उनकी सफलता में किसका हाथ है। जी हां, भुवनेश्वर आज सफल हैं तो एक महिला की वजह से।

यह महिला कोई और नहीं, बल्कि उनकी बड़ी बहन हैं। अगर आज भुवनेश्वर की मदद के लिए उनकी दीदी सामने नहीं आई रहतीं तो वह संभवतः इस मंजिल पर नहीं होते।

भुवनेश्वर ने जब क्रिकेट खेलना शुरू किया था, तब उनके घर की आर्थिक स्थित कुछ बेहतर नहीं थी। ऐसे में यह जद्दोजहद थी कि आखिर भुवनेश्वर क्रिकेट कैसे खेल सकेंगे। हालांकि, उन्हें अपनी बड़ी बहन रेखा अधाना का साथ मिल गया। भुवनेश्वर के जज्बे और उनकी मेहनत को देखते हुए रेखा ने उनकी मदद करने की ठानी। रेखा ने भुवी का दाखिला शहर के ही भामाशाह पार्क क्रिकेट एकेडमी में करवा दिया। वह न केवल भुवी को वहां लेकर जाती थीं, बल्कि उसके स्पोर्ट्स गीयर का इंतजाम भी करती थी।

भुवनेश्वर कुमार ने भी अपनी बहन का मान रखा। खूब मेहनत की और आज अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट के एक बड़े गेन्दबाज के रूप में हमारे सामने हैं।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement