गजबः भारत में चल रही है भूटानी करेन्सी, नोटबंदी के बाद लोगों ने निकाला ये रास्ता

author image
Updated on 18 Nov, 2016 at 6:17 pm

Advertisement

500 और 1000 रुपए के नोटों को बंद किए जाने से जहां देश भर में जहां अफरातफरी का माहौल है, वहीं पश्चिम बंगाल और असम के सीमावर्ती क्षेत्रों में भूटानी नोट धड़ल्ले से चल रहे हैं।

ndtv

ndtv

पश्चिम बंगाल के जलपाईगुड़ी और असम के कोकराझाड़ तथा दादगुरी जैसे इलाकों में स्थानीय लोग सामानों की खरीद-बिक्री के लिए भूटानी करेन्सी का इस्तेमाल कर रहे हैं। इसका कारण यह है कि भूटान से व्यापारी यहां सब्जियां तथा अन्य खाद्य पदार्थ खरीदने के लिए आते हैं।

Kipepeo

Kipepeo

बताया गया है कि भूटानी करेन्सी का लेनदेन बेहद कम है और आमतौर पर इसका इस्तेमाल वहां से आने वाले व्यापारी ही कर रहे हैं। हालांकि, बड़े भारतीय करेन्सी नोटों पर पाबंदी के बाद कुछ स्थानीय लोग भी इसका इस्तेमाल कर रहे हैं।

रिपोर्ट के मुताबिक, 500 रुपए का एक भारतीय नोट 400 रुपए के भूटानी नोट से बदली की जा सकती है।

indianexpress

indianexpress

स्थानीय लोग कहते हैं कि यहां से नजदीकी बैंक और एटीएम कम से कम 50 से 60 किलोमीटर दूर हैं।


Advertisement

एक बार वहां पहुंच भी जाएं तो इस बात की कोई गारंटी नहीं है कि आपको काम चलाने लायक रुपए मिल ही जाएं, क्योंकि भीड़ बहुत अधिक होती है।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement