यह कंपनी इन्सान के पेशाब से बनाती है बीयर

author image
Updated on 11 May, 2017 at 10:22 pm

Advertisement

दुनियाभर में बीयर एक पसंदीदा पेय है। लेकिन जब आपको पता चले कि आप जो बीयर पी रहे हैं, उसमें इन्सान के पेशाब का इस्तेमाल किया गया है तो आपको कैसा लगेगा।

डेनमार्क की एक बीयर निर्माता कंपनी बीयर बनाने के लिए पेशाब का इस्तेमाल करती है। इसका नाम है पिसनर।

अंग्रेजी शब्द पिस का शाब्दिक अर्थ पेशाब है। कंपनी का दावा है कि यह एक नया कॉन्सेप्ट है। यह आइडिया बीयर-साइक्लिंग के रूप में मशहूर हो रहा है।

इस रिपोर्ट के मुताबिक, उत्तरी यूरोप में करीब दो साल पहले आयोजित हुए एक म्यूजिक कॉन्सर्ट के दौरान इस कंपनी ने 50 हजार लीटर से अधिक पेशाब जमा किया था। पेशाब की प्रोसेसिंग कर बीयर का निर्माण किया गया। इस 50 हज़ार लीटर पेशाब से जितनी बार्ली की उत्पादन हुआ उससे 60 हज़ार बोतल बीयर बनी है।

पिसनर बीयर बनाने वाली कंपनी नोरब्रो का कहना है कि फाइनल प्रोडक्ट में कोई भी मानवीय अपशिष्ट नहीं है।

इस बीयर में जिस बार्ली का इस्तेमाल किया गया है उसके उत्पादन में खाद के रूप में इंसानों के पेशाब का उपयोग किया गया था। सामान्य तौर पर खाद के रूप में जानवरों के गोबर या फैक्ट्री में बने उवर्रक का इस्तेमाल किया जाता है।


Advertisement

नोरेब्रो के सीईओ हेनरिक वांग कहते हैंः

”जब हमने इस तरह से बीयर बनाने की जानकारी दी तो लोगों को लगा कि हम बीयर में सीधे पेशाब डाल रहे हैं। इसे सुनकर हमलोग खूब हंसे।”

अगर भारत में यह बीयर मिले, तो क्या आप इसे चखना पसंद करेंगे?

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement