वैध पासपोर्ट पर कानूनी तरीके से कोलकाता में पॉकेटमारी करने आते हैं बांग्लादेशी गिरोह

author image
Updated on 23 Mar, 2017 at 7:07 pm

Advertisement

कोलकाता पुलिस ने एक ऐसे पॉकेटमार गिरोह के भंडाफोड़ का दावा किया है जिसके सदस्य बांग्लादेशी हैं और वैलिड पासपोर्ट पर कानूनी तरीके से कोलकाता में आकर पॉकेटमारी करते रहे हैं। गिरफ्तार बांग्लादेशी पॉकेटमारों ने स्वीकार किया है उन्हें स्थानीय लोगों से मदद मिलती रही है।

गिरोह के दो पॉकेटमारों को मध्य कोलकाता के इन्डियन म्यूजियम के नजदीक से गिरफ्तार किया गया है। इन दोनों की शिनाख्त 48 वर्षीय मोहम्मद रिपन रहमान और 50 वर्षीय मोहम्मद हर्मज के रूप में की गई है। ये दोनों बांग्लादेश में जमालपुर के रहने वाले हैं।

गिरफ्तार पॉकेटमारों का कहना है कि बांग्लादेश से अन्य गिरोह भी वैध पासपोर्ट पर कोलकाता में पॉकेटमारी करने के लए आते रहे हैं।


Advertisement

इसके साथ ही पुलिस ने शेक्सपियर थाना इलाके में हाल में हुई 1,10,000 रुपए और 60 हजार रुपए की पॉकेटमारी की घटना को सुलझाने की बात कही है।

पॉकेटमारों का कहना है कि भारत में हाल में चलन में आए 2 हजार रुपए के नए नोट के लालच में वे कोलकाता आकर पॉकेटमारी की घटना को अंजाम देते हैं। 2 हजार रुपए की वजह से पॉकेट में कैश मात्रा अधिक होती है और इस तरह फायदा भी अधिक होता है।

इस गिरोह के एक तीसरे सदस्य को भी गिरफ्तार किया गया है, जो मटियाब्रुज इलाके का स्थानीय वाशिन्दा है।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement