बांग्लादेश कर सकता है इस्लाम से किनारा, सुप्रीम कोर्ट में चल रहा है मामला

author image
Updated on 4 Mar, 2016 at 4:36 pm

Advertisement

हाल के दिनों में गैर मुस्लिम समुदाय के लोगों पर हुए लगातार हमलों की वजह से बांग्लादेश अपने आधिकारिक धर्म इस्लाम से किनारा कर सकता है।

डेली मेल की इस रिपोर्ट के मुताबिक, बांग्लादेश का सुप्रीम कोर्ट एक ऐसे मामले पर सुनवाई कर रहा है, जिसमें इस्लाम को देश का आधिकारिक धर्म बनाए रखने को चुनौती दी गई है।

पिछले दिनों इस देश में हिन्दू और ईसाई धर्मावलंबियों पर इस्लामिक कट्टरपंथियों के हमले तेज हुए हैं। यही नहीं, अल्पसंख्य शिया समुदाय को भी निशाने पर लिया गया है।

वर्ष 1971 में जब बांग्लादेश स्वतंत्र घोषित हुअा था, तब इसे एक धर्मनिरपेक्ष देश घोषित किया गया। लेकिन वर्ष 1988 में संविधान में संशोधन कर इसे इस्लामिक राष्ट्र बना दिया गया।


Advertisement

बांग्लादेश मुस्लिम बहुल देश है। यहां मुस्लिम जनसंख्या करीब 90 फीसदी है, जबकि यहां 8 फीसदी हिन्दू रहते हैं। बाकी 2 फीसदी में बौद्ध, ईसाई व अन्य धर्मावलंबियों का वास है।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement