Advertisement

मैदान पर हाथापाई की नौबत और ड्रेसिंग रूम में तोड़फो़ड़, बांग्लादेश ने किया क्रिकेट को शर्मशार

4:56 pm 17 Mar, 2018

Advertisement

क्रिकेट को भद्र-जनों का खेल कहा जाता है। मान्यता है कि क्रिकेट में मारपीट, हंगामेबाजी, तोड़फोड़ की कोई जगह नहीं है। हालांकि, बांग्लादेश और श्रीलंका के बीच टी20 ट्राई सीरीज के आखिरी लीग मैच के दौरान जो कुछ भी हुआ, वह क्रिकेट प्रशंसकों की कल्पना से परे की चीज है। बांग्लादेश के खिलाड़ियों ने न केवल मैदान पर विवाद को हवा दी, बल्कि कथित रूप से ड्रेसिंग रूम में भी तोड़फोड़ की।

jansatta
मैदान पर श्रीलंका के फील्डर को धमकी देता हुआ बांग्लादेशी क्रिकेटर

यह है मामला

“बांग्लादेश और श्रीलंका के बीच मैच का आखिरी ओवर चल रहा था। श्रीलंकाई गेंदबाज इसुरु उदाना ने इस ओवर की पहली दोनों गेंदें बाउंसर फेंकी। दूसरी बॉल पर रन लेने की कोशिश में मुस्तफिजुर रहमान रन आउट हो गए। इसके बाद बांग्लादेश के कई सब्स्टिट्यूट खिलाड़ी मैदान पर पहुंच गए। वे बहस करने लगे। दरअसल, बांग्लादेश के खिलाड़ी ओवर की दूसरी गेंद को नो बॉल दिए जाने की मांग कर रहे थे। बहस बढ़ने पर अंपायरों ने बांग्लादेश के खिलाड़ियों को बाहर जाने को कहा, लेकिन वे बहस करते रहे। श्रीलंकाई खिलाड़ियों का कहना था कि आखिरी ओवर की शुरुआती दोनों गेंदें कंधे से ऊपर थीं और फील्ड अंपायर ने नो-बॉल नहीं दिया बाद में कमेंट्री कर रहे सुनील गावस्कर ने कहा कि गेंद जरूर कंधे से ऊपर थी, लेकिन बल्लेबाज के हेलमेट से नीचे होकर निकली। करीब पांच मिनट तक चले इस घटनाक्रम को बांग्लादेश के टीम मैनेजर खालिद महमूद ने खत्म करवाया। अगर बांग्लादेशी बल्लेबाज बैटिंग के लिए नहीं जाती तो टीम को टूर्नामेंट से डिस्क्वालिफाई कर दिया जाता और श्रीलंका फाइनल में पहुंच जाता। लिहाजा कप्तान शाकिब ने अपने खिलाड़ियों को खेलने के लिए भेज दिया। मैच खत्म होने के महज एक गेंद पहले बांग्लादेश ने यह मैच जीत लिया। इसके बाद बांग्लादेशी क्रिकेटर्स मैदान पर नागिन डांस करने लगे। बाद में बांग्लादेशी क्रिकेटर्स ने प्रेमदासा स्टेडियम में जमकर तोड़फोड़ की।”

jansatta
जीत के बाद नागिन डांस।

 

jansatta
ड्रेसिंग रूम में तोड़फोड़

इस बीच, पूरे मामले की जांच के आदेश दिए गए हैं। मैच रेफरी क्रिस ब्रॉड ने खुद फुटेज देखा है ग्राउंड स्टाफ को यह पता लगाने को कहा कि इसके पीछे किस खिलाड़ी का हाथ है। जांच के बाद आगे की कार्रवाई ICC के नियमों के तहत की जाएगी। खबर है कि बांग्लादेश के टीम प्रबंधन ने अपनी तरफ से नुकसान की भरपाई का प्रस्ताव दिया है।

पूरे प्रकरण के बाद बांग्लादेश की आलोचना हो रही है।

क्या बांग्लादेश क्रिकेट टीम पर प्रतिबंध लगा देना चाहिए?

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement