Advertisement

बॉल टेंपरिंग के इन मामलों ने क्रिकेट जगत को शर्मशार किया है

3:46 pm 28 Mar, 2018

Advertisement

इन दिनों क्रिकेट जगत में बॉल टेंपरिंग पर ज़बर्दस्त विवाद हो रहा है। हाल ही में केपटाउन में ऑस्ट्रेलिया-साउथ अफ़्रीका के बीच खेले गए टेस्ट मैच के दौरान यह विवाद शुरू हुआ। बॉल टेंपरिंग यानी बॉल से छेड़छाड़ के आरोप में आस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव स्मिथ, कैमरन बैनक्रॉफ़्ट और वाइस कैप्टन वॉर्नर पर कड़ी कार्रवाई की गई है। खबर है कि स्मिथ और वॉर्नर पर 12 महीने का प्रतिबंध लगाया गया है। वहीं, बैट्समैन कैमरन बैनक्रॉफ्ट पर 9 महीने का प्रतिबंध लगाने का फैसला किया गया है। इतना ही नहीं, इस प्रतिबंध की वजह से स्मिथ और वॉर्नर अगले महीने से शरू हो रहे इंडियन प्रीमियर लीग में भी नहीं खेल पाएंगे।

 

 

वैसे आपको बता दें कि क्रिकेट के इतिहास में बॉल टेंपरिंग की घटनाए नई नहीं है। पहले भी कई खिलाड़ियों पर बॉल टेंपरिंग के आरोप लग चुके हैं।

सचिन और सहवाग

भारतीय खिलाड़ी भी इस मामले में फंस चुके हैं। वर्ष 2001 में भारत और दक्षिण अफ़्रीका के बीच मैच के दौरान सचिन तेंदुलकर पर बॉल टेंपरिंग का आरोप लगा और उन्हें एक मैच के लिए प्रतिबंधित भी कर दिया गया था। दरअसल, सचिन गेन्द को एक साइड से रगड़ रहे थे, जिसे बॉल से छेड़छाड़ समझा गया। हालांकि, बाद में जांच के बाद आईसीसी ने सचिन और वीरेंद्र सहवाग को इस मामले में क्लीन चिट दे दी थी।

 

राहुल द्रविड़

टीम इंडिया के वॉल कहे जाने वाले राहुल द्रविड़ भी बॉल टेंपरिंग मामले में फंस चुके हैं। 2004 में ऑस्ट्रेलिया के ब्रिस्बेन में जिम्बाब्वे के ट्रायंगुलर सीरीज़ के एक मैच में राहुल द्रविड़ पर बॉल टेंपरिंग के आरोप लगे थे। कहा गया कि राहुल ने बॉल पर जेल लगया था। इस मामले में जुर्माने के रूप में उन्हें अपनी मैच फीस का 50 प्रतिशत हिस्सा देना पड़ा था।

 

 

माइकल अॉथर्टन

लॉर्ड्स में वर्ष 1994 में दक्षिण अफ़्रीका और इंग्लैंड के बीच खेले गए टेस्ट मैच के दौरान इंग्लैंड के कप्तान माइकल अथॉर्टन बॉल से छेड़छाड़ करते पकड़े गए थे। वे अपने पॉकेट में रखी रेत से बॉल को घिस रहे थे और उनकी ये हरकत कैमरे में कैद हो गई। हालांकि, चोरी पकड़े जाने पर उन्होंने सफाई दी कि वह रेत उन्होंने अपने गीले हाथों पर लगाने के लिए रखी थी, लेकिन उनकी ये दलील काम नहीं आई। उस वक्त अॉथर्टन पर 2000 डॉलर का जुर्माना लगा था।

 


Advertisement

 

मार्कस ट्रेस्कोथिक

इंग्लैंड के ओपनिंग बैट्समैन मार्कस ट्रेस्कोथिक ने अपनी ऑटोबायोग्राफी ‘Coming Back to Me’ में खुद बॉल टेंपरिंग का ज़िक्र किया है। उन्होंने कहा कि 2005 में एक मैच के दौरान बॉल को चमक बढ़ाने के लिए उन्होंने मिंट का इस्तेमाल किया था।

 

जेम्स एंडरसन और स्टुअर्ट ब्रॉड

इंग्लैंड के फास्ट बॉलर जेम्स एंडरसन और स्टुअर्ट ब्रॉड पर साउथ अफ़्रीका के ख़िलाफ़ केपटाउन में खेले गए एक टेस्ट मैच के दौरान बॉल को अपनी स्पाइक्स पर घिसने के आरोप लगा था, हालांकि जांच के बाद ये आरोप गलत साबित हुए।

 

शाहिद अफरीदी

2010 में ऑस्ट्रेलिया में खेले गए एक टी-20 मैच के दौरान पाकिस्तानी कैप्टन शाहिद अफरीदी पर बॉल टेंपरिंग का आरोप लगा। अफरीदी ब मामले में एक मैच का प्रतिबंध लगा था। मैच के दौरान अफ़रीदी बॉल को काटते हुए कैमरे में कैद हुए थे।

 

वर्नोन फिलेंडर

वर्ष 2014 में श्रीलंका टूर के दौरान दक्षिण अफ़्रीकी टीम के गेंदबाज़ वर्नोन फिलेंडर बॉल टेंपरिंग मामले मं फंसे थे। उन पर आरोप लगा कि उन्होंने अंगूठे से बॉल को खुरचने की कोशिश की। इस मामले में जुर्माने के तौर पर उनकी मैच फीस का 75 प्रतिशत हिस्सा काट लिया गया था।

 

फाफ डुप्लेसिस

ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण अफ्रीका के बीच 2016 में होबार्ट में खेले गए टेस्ट मैच के दौरान साउथ अफ़्रीका के कप्तान फाफ डुप्लेसिस पर भी बॉल टेंपरिंग का आरोप लगा। फाफ बॉल पर मिंट या लॉलीपॉप का स्लाइवा लगा रहे थे। जांच में उन पर लगे आरोप सही साबित हुए, जिसके बाद उनकी मैच फीस काट ली गई।

 

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement