बीच समुद्र में रहते हैं बजाउ जनजाति समुदाय के लोग, भाले से पकड़ते हैं मछली

author image
Updated on 6 Jan, 2017 at 4:59 pm

Advertisement

भारत सहित दुनिया के कई देशों में कई जनजातियां निवास करती हैं। कई जनजातियां पेड़ों पर रहती हैं, तो कई जंगलों और गुफाओं में। आज हम जिस जनजाति के बारे में बताने जा रहे हैं, उसके बारे में आप जानकर चौंक जाएंगे।

जी हां, एक ऐसी जनजाति समुदाय भी है, जिसके सदस्य अपनी पूरी जिन्दगी पानी में ही गुजार देते हैं। दरअसल, इस जनजाति का नाम है बजाउ। इस समुदाय के लोग फिलीपीन्स के आसपास समुद्र में रहते हैं। ये जमीन पर कभी-कभार ही देखे जाते हैं। साथ ही ये तकनीक का भी कम ही इस्तेमाल करते हैं।

इस जनजाति के समुदाय के लोगों को समुद्र के बंजारे भी कहा जाता है। बजाउ समुदाय के लोग अब भी किसी देश की राष्ट्रीयता से मरहूम है। ये पैसों के लेन-देन से अनभिज्ञ हैं। साथ ही मछली पकड़ने के लिए ये अब तक भाले का ही इस्तेमाल करते हैं।


Advertisement

जमीन पर ये केवल तब आते हैं, जब उन्हें अपने समुदाय के किसी मृत व्यक्ति को दफनाना हो या फिर नई नाव बनानी हो।

शादी के मौके पर बजाउ दूल्हा-दुल्हन सबसे अधिक रंगीन कपड़े पहनते हैं। यहां की खासियत है कि कपड़ों के रंगों के आधार पर तय होता है कि कौन कितना अधिक प्रभावशाली है।

इन लोगों की संस्कृति बाकी दुनिया से बेहद अलग है। यह जनजाति गुमनामी में रह रही थी। इन लोगों को अब पहचान मिलने लगी है।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement