दिल्ली भाजपा के प्रवक्ता बग्गा को ममता सरकार ने कोलकाता से वापस भेजा

Updated on 30 Sep, 2017 at 5:14 pm

Advertisement

कोलकाता में दुर्गा प्रतिमा विसर्जन में भाग लेने के लिए यहां पहुंचे भारतीय जनता पार्टी की दिल्ली ईकाई के प्रवक्ता तजिन्दर पाल सिंह बग्गा को वापस दिल्ली भेज दिया गया है। बग्गा आज सुबह कलकत्ता एयरपोर्ट पर स्पाइस जेट की फ्लाइट से पहुंचे थे। उनकी योजना शहर में दुर्गा प्रतिमा विसर्जन में भाग लेने की थी, लेकिन उन्हें कोलकाता पुलिस ने कई घंटे तक एयरपोर्ट पर ही रोके रखा। बाद में दोपहर उन्हें वापस दिल्ली भेज दिया गया।

बग्गा ने पिछले 23 अगस्त को एक ट्वीट के माध्यम से राज्य की ममता बनर्जी सरकार को चुनौती देते हुए दुर्गा प्रतिमा विसर्जन के लिए कोलकाता आने की बात कही थी।


Advertisement

दरअसल, यह विवाद पश्चिम बंगाल सरकार द्वारा विजयादशमी व इसके अगले दिन दुर्गा प्रतिमाओं के विसर्जन पर रोक लगाने से शुरू हुआ था। राज्य सरकार ने यह फैसला मोहर्रम के जुलूस को देखते हुए किया था। कल यानी एक अक्टूबर को मोहर्रम है, और इसे देखते हुए ममता ने आदेश दिया था कि 30 सितम्बर के शाम 6 बजे के बाद दुर्गा प्रतिमाओं का विसर्जन नहीं किया जा सकेगा।

तजिन्दर बग्गा ने ममता सरकार के इस फैसले को चुनौती देते हुए कहा था कि वह विजयादशमी के दिन कोलकाता में रहेंगे और दुर्गा प्रतिमाओं के विसर्जन में भाग लेंगे।

इसके लिए बकायदा उन्होंने स्पाइट जेट से कोलकाता का टिकट भी बुक करवा लिया।

इसके बाद से सोशल मीडिया में लगातार बग्गा के कोलकाता अभियान को लेकर एक मुहिम चली।

आज विजयादशमी के सुबह अपने नियत कार्यक्रम के मुताबिक जब भाजपा प्रवक्ता कोलकाता पहुंचे, तो उन्हें कोलकाता पुलिस की टीम ने एयरपोर्ट पर ही रोक लिया। उनसे कहा गया उन्हें शहर में प्रवेश नहीं करने दिया जाएगा।

इस संबंध में भारतीय जनता पार्टी की पश्चिम बंगाल ईकाई ने भी विरोध दर्ज कराया है।

गौरतलब है कि दुर्गा प्रतिमा विसर्जन पर राज्य सरकार के फैसले को कलकत्ता हाईकोर्ट ने खारिज कर दिया था। हाईकोर्ट की कार्यकारी चीफ जस्टिस निशिथा म्हात्रे और जस्टिस तपोब्रत चक्रवर्ती की खंडपीठ ने राज्य सरकार के फैसले पर रोक लगाते हुए कहा कि पंजिका के अनुसार विसर्जन की समय सीमा रात्रि 1.30 बजे तक होनी चाहिए।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement