पॉर्न साइट्स बैन का आदेश तो दे दिया, लेकिन ये बाबा लाइव पॉर्न देख रहे हैं उसका क्या?

3:54 pm 27 Oct, 2018

Advertisement

हाल ही में उत्तराखंड हाईकोर्ट ने इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर्स को 827 पॉर्न साइट्स बैन करने का आदेश दिया। इसके तहत जियो नेटवर्क ने अश्लील कंटेंट दिखाने वाली वेबसाइट्स को बैन कर दिया, लेकिन क्या इससे हमारे देश में पॉर्न देखने पर पूरी तरह से पाबंदी लग पाएगी? खासतौर पर लोगों के विश्वास के साथ खिलवाड़ करने वाले बाबाओं का पॉर्न देखना का क्या बंद हो जाएगा, जो न सिर्फ़ ऑनलाइन पॉर्न, बल्कि लाइव पॉर्न देखना पसंद करते हैं।

 

पॉर्न साइट पर बैन (Blocked porn sites)

 


Advertisement

हमारे देश में अंधविश्वासी लोगों की कोई कमी नहीं है। अगर किसी बाबा ने उनकी कोई परेशानी को दूर करने का वादा कर दिया तो बस अंधविश्वास के चक्कर में वो सब कुछ करने को तैयार हो जाते हैं। हाल ही में महाराष्ट्र में एक फ़र्ज़ी बाबा का हैरान करने वाला कारनामा सामने आया है।

 

फर्जी बाबा (Love Guru Baba)

 



योगेश कुपेकर नाम के इस फ़र्ज़ी बाबा के पास एक कपल आया। कपल को शादी के बहुत सालों बाद भी बच्चा नहीं हुआ, तो बाबा ने उपाय बताते हुए कपल को जबरन अपने सामने ही संबंध बनाने को कहा। उसने गर्भधारण में मदद पहुंचाने के लिए उपचार के बहाने महिला और उसके पति को अपने सामने संबंध बनाने के लिए मजबूर किया। उसका कहना था कि ऐसा करने से उन्हें बच्चा हो जाएगा। इससे वो महिला के शरीर से अवगुणों को निकाल देगा। इसके बाद दंपती ने ठाणे पुलिस में शिकायत दर्ज कराई।

 

फर्जी बाबा ने कपल से की छेड़खानी (Baba Exploited The Couple)

 

कपल ने बाबा पर रेप, छेड़खानी और जबरन 10 हजार रुपए ठगने का आरोप लगाया।आरोपी बाबा योगेश कुपेकर को शैतानी, अघोड़ी प्रथाएं और काला जादू रोकथाम और उन्मूलन अधिनियम, 2013 और आईपीसी की धाराएं 376 (यौन हमला) और 354 (छेड़खानी) के तहत दोषी ठहराया।

महाराष्ट्र की एक स्थानीय अदालत ने बाबा को दोषी पाते हुए 23 अक्टूबर को 10 साल की जेल और उस पर 30 हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया है।

आरोपी योगेश कुपेकर को महाराष्ट्र मानव बलि एवं अन्य अमानवीय, शैतानी, अघोड़ी प्रथाएं और काला जादू रोकथाम और उन्मूलन अधिनियम, 2013 और आईपीसी की धाराएं 376 (यौन हमला) और 354 (छेड़खानी) के तहत दोषी ठहराया। अदालत ने उस पर 30 हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया है।

महिला का कहना है इस वाकये से वो मानसिक रूप से बीमार हो चुकी है और बहुत सदमें में है। ये मामला वाकई में रेप के अन्य मामलों से काफी अलग है, लेकिन इसमें लोगों की भी होती है जो ऐसे फर्जी बाबाओं की बातों में आकर उनपर विश्वास कर लेते हैं।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement