इन पांच प्रजातियों की मछलियां खाने से करें परहेज, हो सकता है नुकसान

Updated on 26 May, 2017 at 9:41 pm

Advertisement

हम जानते हैं कि मछलियां खाने में स्वादिष्ट और स्वास्थ्यवर्धक होती हैं। इनमें वसा, विटामिन एवं पोषक तत्व भरपूर मात्रा में उपलब्ध होती हैं। हालांकि, मछलियां आपके स्वास्थ्य के लिए हानिकारक भी हो सकती हैं। इन्हें खाने से सदैव परहेज करना चाहिए। हम आपको इस तरह की पांच मछलियों के बारे में जानकारी दे रहे हैं, जिन्हें खाने से परहेज करना चाहिए।

1. कैटफिश

माना जाता है कि कैटफिश मछलियों को हार्मोन्स के जरिये बड़ा किया जाता हैं। हमारे घरेलू मछलियों की तुलना में इन मछलियों में हानिकारक पदार्थ भी काफी मात्रा में पाई जाती हैं।

2. मकरैल

मकरैल एक प्राकर की समुन्द्री मछली है, जिसमें पारा पाया जाता हैं। पारा हमारे शरीर के लिए हानिकारक होता है। पारे से युक्त मकरैल खाने से हमें नुकसान हो सकता है।

3. टूना


Advertisement

टूना भी एक प्रकार की बड़ी समुन्द्री मछली हैं। इसमें भी पारे की मात्रा अधिक है। हाल के दिनों में पश्चिम बंगाल सहित देश के कई इलाकों में इस मछली के डिश का चलन बढ़ा है, लेकिन विशेषज्ञ कहते हैं कि यह मनुष्य के आहार के लिए उपयुक्त नहीं है।

4. तेलापिया

इस मछली में बहुत अधिक वसीय अम्ल तो नहीं पाया जाता, फिर भी इसमें कुछ हानिकारक वसा पाए जाते हैं, जो हमारे स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हैं। इस प्रकार की मछलियों के सेवन से हमारे शरीर में केलोस्ट्राल की मात्रा भी बढ़ जाती हैं। हृदयरोगियों को इस मछली का सेवन करने से बचना चाहिए।

5. ईल मछली

ईल मछली में बहुत अधिक मात्रा में वसा पाई जाती है। ईल मछलियां, उद्योग-धन्धों से निकले गन्दे पानी में पनपती हैं। ईल मछली प्रायः अमेरिकी मछलियों की प्रजाति हैं। इनमें अल्कोहॉल की मात्रा पाई जाती हैं।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement