वर्ष 2030 तक ऑटोमोबाइल और ऑयल इन्डस्ट्री का होगा सफाया

author image
Updated on 25 May, 2017 at 8:18 pm

Advertisement

वर्ष 2030 तक ऑटोमोबाइल तथा ऑयल इन्डस्ट्री का सफाया हो जाएगा। यही नहीं, अगले पांच साल में भारत में पेट्रोल की कीमत 30 रुपए प्रति लीटर से भी कम हो जाएगी। यह भविष्यवाणी अमेरिका के फ्यूचरिस्ट टोनी सेबा ने की है।

टोनी ने कई साल पहले सौर ऊर्जा क्षेत्र के विकास की भविष्यवाणी की थी। उन्होंने जिस वक्त यह भविष्यवाणी की थी, उस वक्त सौर ऊर्जा की कीमत आज की तुलना में 10 गुना अधिक थी, लेकिन कालांतर में उनकी यह भविष्यवाणी सही साबित हुई है।

टोनी कहते हैं कि नई तकनीक के अस्तित्व में आने की वजह से तेल पर निर्भरता लगभग खत्म हो जाएगी। यही वजह है कि आने वाले वर्षों में पेट्रोल-डीजल की कीमतों में भारी कमी होगी।


Advertisement

टोनी के मुताबिक, सेल्फ ड्राइविंग इलेक्ट्रिक कारों का चलन बढ़ेगा। वह कहते हैं कि 2020-21 में तेल की मांग अपने चरम पर होगी और इसके बाद यह धीरे-धीरे समापन की तरफ आगे बढ़ेगा। कच्चे तेल की कीमत तेजी से गिरते हुए 25 डॉलर प्रति बैरल तक आ जाएगी।

टोनी का मानना है कि तेल से चलने वाले कार अचानक बंद नहीं होंगे, लेकिन जब लोग देखेंगे कि इलेक्ट्रिक कार सस्ते होते हैं और इन्हें चलाना भी आसान होगा, तब लोग शिफ्ट करेंगे।

टोनी सेबा का दावा है कि 2030 तक 95 फीसदी लोग निजी तौर पर कार रखना बंद कर देंगे और इससे ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री का ही सफाया हो जाएगा। इससे वैश्विक तेल उद्योग का भी सफाया होने की आशंका है।

भारत में भी वर्ष 2030 तक पूरी तरह से इलेक्ट्रिक कारों के संचालन पर विचार किया जा रहा है।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement