औरंगजेब ने लगाया था आतिशबाजी पर प्रतिबंध, यहां रहा फरमान!

author image
Updated on 12 Oct, 2017 at 6:56 pm

Advertisement

दिवाली के मौके पर सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली-एनसीआर में पटाखों की बिक्री पर प्रतिबंध लगा दिया है।

सुप्रीम कोर्ट का कहना है कि दिल्ली में बढ़ रहे प्रदूषण को देखते हुए पटाखों पर रोक उचित है। वहीं, सुप्रीम के फैसले का लोग विरोध कर रहे हैं। आम लोगों के अलावा सेलिब्रिटीज भी इस प्रतिबंध के विरोध में उतर आए हैं। सोशल मीडिया पर बड़ी संख्या में लोग अपनी राय रख रहे हैं।

ऐसे लोगों की भी कमी नहीं है जो सुप्रीम कोर्ट के फरमान को मुगल बादशाह औरंगजेब के फरमान के साथ जोड़कर कर देख रहे हैं।

दरअसल, कहा जाता है कि वर्ष 1667 में औरंगजेब ने फरमान जारी करते हुए आतिशबाजी पर रोक लगा दी थी। भारत के इतिहास में यह पहली बार था जब आतिशबाजी को प्रतिबंधित कर दिया गया था।

राजस्थान कैडर के वरिष्ठ आईएएस अधिकारी संजय दीक्षित ने अपने ट्वीटर अकाउन्ट पर औरंगजेब का वह फरमान शेयर किया है।

संजय का दावा है कि यह वही मूल फरमान है, जो औरंगजेब द्वारा जारी किया गया था। संजय ने इसका हिन्दी अनुवाद भी ट्वीटर पर शेयर किया है।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement