भारत में पर्यटन को लेकर स्विट्ज़रलैंड ने जो चेतावनी जारी की है वह हमारे देश के लिए शर्मनाक है

author image
Updated on 27 Oct, 2017 at 7:01 pm

Advertisement

“अतिथि देवो भवः” संस्कृत की एक प्रख्यात कहावत है, जिसका अभिप्राय है कि मेहमान देवता के समान है। “अतिथि देवो भवः” हमारे देश के उन सशक्त विचारों में से एक है, जो देश के नैतिक मूल्यों को दुनिया के सामने रखता है, लेकिन इस आदर और सत्कार भाव की उस समय धज्जियां उड़ गईं, जब कुछ लोगों ने भारत घूमने आए दो स्विस नागरिकों को डंडों और पत्थरों से पीट दिया।

देश को शर्मसार करने वाली यह घटना उस वक्त घटित हुई जब स्विट्ज़रलैंड से आया यह युवा जोड़ा आगरा के पास फतेहपुर सीकरी में रेलवे स्टेशन के नजदीक घूम रहा था। तभी कुछ युवाओं ने प्रेमी जोड़े का पीछा करना शुरू कर दिया। इसके बाद पत्थरों और लाठियों से उन पर हमला कर दिया। दोनों विदेशी मेहमानों की पहचान क्वेंटिन जेरेमी क्लेर्क (24) और उनकी महिला मित्र मैरी द्रोज (24) के रुप में हुई। वह दोनों 30 सितंबर को भारत आए थे।

बकौल क्लार्क , वे रविवार को फतेहपुर सीकरी रेलवे स्टेशन के नजदीक घूम रहे थे तभी कुछ लड़कों ने उनका पीछा करना और कमेंट करने शुरू कर दिए। जब वे नजरअंदाज करते हुए जाने लगे तो उनके साथ जबरन सेल्फी खींचने लगे। इसका विरोध करने पर युवाओं ने क्लार्क का सिर फोड़ दिया। उन्हें इतना पीटा गया है कि क्लॉर्क के एक कान की सुनने की क्षमता बुरी तरह प्रभावित हुई है। इस हमले में उनकी महिला मित्र को भी चोटें आईं हैं। हमले में बुरी तरह घायल ये जोड़ा सड़क पर खून से लथपथ पड़ा रहा और राहगीर विडियो बनाते रहे। जहां भारत के पर्यटन विभाग से लेकर विदेश मंत्री ने इस घटना पर अपनी कड़ी निंदा व्यक्त की, वहीं वैश्विक स्तर पर भी देश की छवि को इससे बड़ा झटका पहुँचने की अंदेशा है।


Advertisement

अब आप जरा सोचिये जिस देश में अतिथियों का सत्कार ऐसा होता हो वहां दोबारा कोई क्यों आना चाहेगा।

स्विट्जरलैंड और यूरोप की स्थानीय मीडिया ने भारत में यात्रा करने के संभावित ‘खतरों’ को उजागर किया है। स्विस नागरिक जो भारत यात्रा करना चाहते हैं उनके लिए ट्रेवल एडवाइजरी पहले से ही जारी की हुई है। 25 अगस्त को जारी इस एडवाइजरी में भारत में बढ़ते अपराध दर और विशेषकर महिलाओं के खिलाफ अपराधों का जिक्र किया गया है। रिपोर्ट में लिखा है- “पूरे भारत से कई बलात्कार और अन्य यौन सम्बंधित घटनाएं दर्ज हुई है। विदेशी लोग तेजी से इसका शिकार हो रहे हैं। महिलाओं को अधिक सतर्क रहने की सलाह दी जाती है।”

इस ट्रेवल एडवाइजरी में छेड़छाड़, लूटपाट, धोखाधड़ी और आतंकी हमले जैसी संभावित घटनाओं का भी विस्तार से जिक्र किया गया है। वहीं सड़क और परिवहन सेवा की खराब व्यवस्था को भी उजागर किया है।

यह आम तौर पर देखा ही जाता है कि अमूमन हर देश अपने नागरिकों को किसी अन्य देश घूमने के लिए ट्रेवल एडवाइजरी जारी करता है। स्विट्ज़रलैंड ने अपने नागरिकों के लिए जारी की गई एडवाइजरी में पहले से ही संभावित घटनाओं को रेखांकित किया हुआ है। ऐसे में उन्ही के नागरिकों पर हुए भारत में हमले की घटना ने देश की छवि को नुकसान पहुंचाया है।

हमारे देश के ही कुछ ऐसे असामाजिक तत्व हैं, जो देश की छवि को वैश्विक स्तर पर मटियामेट कर रहे हैं। इस मामले में पुलिस ने पांच आरोपियों को पकड़ लिया है, जिनमें तीन नाबालिग बताए जा रहे हैं।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement