तो क्या मलाला पर तालिबान का हमला एक नाटक भर था ?

author image
3:28 pm 23 May, 2017

Advertisement

पाकिस्तान के एक महिला नेता का दावा है कि मलाला यूसुफजई पर तालिबान का हमला दरअसल एक ‘नाटक’ भर था।

इमरान खान की पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ की सांसद मुसर्रत अहमदजेब ने अपने एक साक्षात्कार में दावा किया है कि वर्ष 2012 में मलाला पर तालिबान का हमला एक लिखित पटकथा के आधार पर हुआ था। यही नहीं, मुसर्रत अहमदजेब को संदेह है कि हमले के समय गोली मलाला के सिर में ही लगी थी।

उर्दू अखबार ‘उम्मत’ को दिए साक्षात्कार में मुसर्रत ने सवाल उठाए हैं। इस संबंध में उन्होंने ट्वीट भी किया है।

मुशर्रत का आरोप है कि मलाला का उपचार करने वाले चिकिस्कों तथा अन्य कर्मियों को सरकार की तरफ से उपहारस्वरूप जमीन दी गई,ताकि वह इस बारे में मुंह न खोलें।

पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ की सांसद के मुताबिक, एक अमेरिकी ने तीन महीने तक मलाला के घर पर रहकर उसे भविष्य की भूमिका के लिए तैयार किया था।



हालांकि, यह बात साफ नहीं है कि इतने सालों बाद आखिर मुशर्रत ने यह दावा क्यों किया है?

गौरतलब है कि मलाला तालिबान द्वारा किए गए हमले के बाद चर्चा में आई थी। उसे बाद में नोबेल शांति पुरस्कार से सम्मानित किया गया था।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement