अटलजी की जिंदगी पर बन रही है बायोपिक; फिल्म का नाम हुआ तय, आखिर कौन निभाएगा उनका किरदार?

author image
Updated on 18 Aug, 2018 at 6:30 pm

Advertisement

भारतीय राजनीति के ‘भीष्म पितामह’ अटल बिहारी वाजपेयी के निधन से पूरा देश शोक में है। लम्बे समय से गंभीर बीमारी से जूझ रहे अटलजी ने 93 साल की उम्र में एम्स में अंतिम सांस ली। वह ऐसी शख्सियत थे, जिनका हर कोई मुरीद हो जाता था। वह ऐसे नेता रहे जिसका किसी से कोई निजी मतभेद नहीं रहा और न ही वो कभी किसी आरोप-प्रत्यारोप की राजिनीति में संलिप्त हुए। उन्होंने जात-पात की राजनीति से ऊपर उठकर विकास की राजनीति पर जोर दिया।

 

 


Advertisement

उन्हें हर तबके के लोगों से खूब स्नेह और प्यार मिला। उनका अपना एक अलग ही व्यक्तित्व था, जिसके आज भी लाखों लोग दीवाने हैं। उनकी अंतिम यात्रा पर बड़ी तादाद में लोग देश के अलग-अलग कोने से उन्हें श्रद्धांजलि देने पहुंचे।

 

आम जनता के बीच अटल जी की इसी लोकप्रियता को देखते हुए जल्द ही उनकी जिंदगी पर आधारित बायोपिक बनने जा रही है। स्पेक्ट्रम मूवीज बैनर तले बन रही इस फिल्म को निर्देशक मयंक पी. श्रीवास्तव निर्देशित करेंगे।

 

फिल्म के निर्देशक मयंक ने बताया कि वह परिवार की अनुमति खासकर अटलजी की भतीजी माला तिवारी से बातचीत कर उनकी बायॉपिक का निर्माण कर रहे हैं।

 

 

फिल्म को प्रोड्यूस कर रहे रंजीत शर्मा ने अटलजी की इस बायोपिक फिल्म को लेकर कहा कि वह अटल जी के बड़ेेे प्रशंसक हैं। उनका हमेशा से यह सपना था कि वो अटलजी की जिंदगी पर बायोपिक बनाएं। उन्होंने कहा कि अब इस सपने के साकार होने का समय आ गया है।

 

इस फिल्म का नाम ‘युगपुरुष अटल’ होगा। फिल्म का संगीत मशहूर संगीतकार बप्पी लहरी देंगे। अटल जी की यह बायोपिक उनके जीवन की सच्ची घटनाओं पर आधारित होगी, जिसमें उनके बचपन से लेकर राजनीति में आने तक के सफर को दर्शाया जाएगा। इस बायोपिक के अटल जी के 94वें जन्मदिवस यानी 25 दिसम्बर 2018 को रिलीज किए जाने की संभावना है।

 



 

अब सवाल ये है कि उनके इस किरदार को बड़े पर्दे कौन निभाएगा। खबरें है कि कई अभिनेताओं ने अटलजी का किरदार निभाने की इच्छा जाहिर की है।

 

इनमें से एक शत्रुघ्न सिन्हा भी है, जिन्होंने कहा है कि उन्हें अटलजी का किरदार निभाकर खुशी होगी। वहीं, अक्षय कुमार और परेश रावल ने भी अटलजी का किरदार निभाने में अपनी रूचि दिखाई है।

 

 

बता दें कि अटलजी फिल्मों के बड़े दीवाने रहे। अटलजी ऐसी शख्सियत थे कि चुनाव हारने के बाद भी फिल्म देखने चले जाते थे। 9 साल बीमारी में गुजारने वाले अटलजी को पुरानी फिल्मों से बेहद लगाव था और वह टीवी पर अक्सर आनेवाली पुरानी फिल्मों को देखा करते थे।अटलजी ने हेमा मालिनी की फिल्म ‘सीता और गीता’ 25 बार देखी थी।

 

 

हिंदी सिनेमा की उन्हें पुरानी फिल्में तीसरी कसम, बंदिनी और देवदास पसंद थी। वहीं, अटल जी हॉलीवुड फिल्में भी देखा करते थे। हॉलीवुड में उनकी फेवरेट फिल्म ‘द ब्रिज ऑन द रिवर क्वाई’, ‘बॉर्न फ्री’ और ‘गांधी’ थी। उन्हें लता मंगेशकर, मुकेश और मोहम्मद रफ़ी के गाने सुनना बेहद पसंद था।

 

indianexpress


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement