नौकायन में भारत ने दर्ज की बड़ी जीत, कोच ने कहा- उम्मीद है अब इस खेल को सम्मान और तवज्जो मिलेगी

Updated on 25 Aug, 2018 at 1:41 pm

Advertisement

जकार्ता में आयोजित एशियाई खेलों में भारतीय खिलाड़ियों ने देश का नाम रौशन किया है। खेल के छठे दिन रोइंग मुकाबलों में भारतीय खिलाड़ियों ने जो प्रदर्शन किया उससे भारत के रैंक में सुधार देखा गया है। रोइंग यानी कि नौकायन में भारत ने एक स्वर्ण पदक सहित दो कांस्य पदक जीतने में सफलता हासिल की है।

 

एशियाई खेलों में भारत को नौकायन में 8 साल बाद गोल्ड मेडल प्राप्त हुआ है।

 


Advertisement

 

गौरतलब है कि इससे पहले 2010 के ग्वांग्झू एशियाई खेलों में भारत ने मेंस सिंगल स्कल्स में गोल्ड जीता था। बजरंग लाल ताखर ने अपनी प्रतिभा का परिचय देते हुए यह गोल्ड मेडल अपने नाम किया था।

 

इस बार की बात करें तो भारत के लिए यह स्वर्ण पदक रोइंग मुकाबले में पुरुषों की क्वाड्रपल स्कल्स टीम ने प्राप्त किया है।

 

मुकाबले में भोनाकल दत्तू, स्वर्ण सिंह, ओम प्रकाश और सुखमीत सिंह की टीम ने फाइनल मुकाबले में छह मिनट और 17.13 सेकेंड का समय लेकर प्रथम स्थान प्राप्त किया।

 

वहीं इस खेल में इंडोनेशिया को रजत पदक तो थाइलैंड को कांस्य पदक की प्राप्ति हुई है।

 

 

रोइंग की ही लाइटवेट सिंगल ​स्कल्स प्रतिस्पर्धा में दुष्यंत चौहान ने कांस्य जीतकर विजयरथ का आगाज किया।

 

उनकी जीत के बाद ही रोइंग के लाइटवेट डबल्स स्कल्स स्पर्धा में रोहित कुमार और भगवान सिंह की जोड़ी ने कांस्य पदक जीतने में सफलता हासिल की।

 


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement