अश्विन को मिला आईसीसी का सबसे बड़ा सम्मान, सर गारफील्ड सोबर्स ट्रॉफी से नवाजे गए

author image
Updated on 29 Mar, 2017 at 1:27 pm

Advertisement

भारतीय गेंदबाज रविचंद्रन अश्विन को साल 2016 के सर्वश्रेष्ठ आईसीसी क्रिकेटर और आईसीसी टेस्ट क्रिकेटर चुने जाने पर गारफील्ड सोबर्स ट्राफी से नवाजा गया।

भारत के दो दिग्गज पूर्व कप्तान एवं आईसीसी क्रिकेट हॉल ऑफ फेम में शामिल कपिल देव और सुनील गावस्कर ने के हाथों अश्विन को यह सम्मान मिला।

इस सम्मान को पाने पर अश्विन ने कहा कि आईसीसी के दो शीर्ष पुरस्कार में नामांकित होना ही अपने आप में बहुत बड़ा सम्मान है। उन्होंने कहा-

“दो शीर्ष पुरस्कारों के लिए आईसीसी द्वारा मेरे नाम का चयन किया जाना गर्व की बात है। मेरे लिए संतोष की बात यह है कि मैंने इस दौरान टीम को बेहतर प्रदर्शन करने में मदद दी। हमने सभी प्रारूपों में अच्छा प्रदर्शन किया है। टेस्ट टीम रैंकिंग में शीर्ष स्थान पर होना हम सभी के लिए गर्व की बात है।”


Advertisement

अश्विन की इस उपलब्धि पर आईसीसी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी डेविड रिचर्डसन ने भी अपनी प्रतिक्रिया रखी। उन्होंने कहा कि आश्विन ने यह साबित किया है कि वो सही मायनों में विजेता कहलाने के हकदार है।

कपिल देव ने भी आश्विन के खेल की तारीफ़ करते हुए कहा-



“आईसीसी के दो महत्वपूर्ण पुरस्कार जीतने पर अश्विन को बधाई। उन्होने एक बार फिर टेस्ट मैचों में अपना शानदार प्रदर्शन दिया है। उन्होंने कई सप्ताहों तक स्वयं को आईसीसी टेस्ट गेंदबाजों की रैंकिंग में शीर्ष पर रखा है।”

उधर सुनील गावस्कर ने भी भारतीय टीम के इस बेहतरीन ऑफ स्पिनर के बारे में कहा-

“भारत ने हमेशा से ही कई शानदार स्पिन गेंदबाज दिए हैं। अश्विन और रवींद्र जडेजा वर्तमान के ऐसे ही स्पिन गेंदबाज हैं जिन्होंने भारत की इस विरासत को संभाला है। विभिन्न प्रारूपों में स्वयं की फार्म को बनाए रखना स्पिन गेंदबाजों के लिए कभी भी आसान नहीं रहा है। अश्विन ने खासकर विभिन्न प्रारूपों में बेहतरीन सामंजस्य बनाया है और सभी प्रारूपों में विकेट लिए हैं।”

अश्विन गैरीफील्ड सोबर्स ट्रॉफी सम्मान पाने वाले दुनिया के 12वें खिलाड़ी बने। यह सम्मान हासिल करने वाले वह तीसरे भारतीय क्रिकेटर हैं। इससे पहले राहुल द्रविड़ (2004) और सचिन तेंदुलकर (2010) यह सम्मान हासिल कर चुके हैं।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement