सियाचिन की चोटी पर भारतीय सैनिकों के योगाभ्यास की तस्वीरें आपको रोमांचित कर देंगी

author image
2:12 pm 23 Jun, 2016

Advertisement

जब पूरी दुनिया योग कर रही थी, उस वक्त दुनिया के सबसे ऊंचे युद्धक्षेत्र सियाचिन की चोटी पर भारतीय सेना के जांबाज सैनिक भी अलग-अलग आसनों को आजमा रहे थे।

समुद्रतल से करीब 20 हजार फुट की ऊंचाई पर स्थित सियाचिन में कड़ाके की ठंड में सैनिकों की यह कोशिश निश्चित रूप से अभिनव है।

HT

सेना की एक विज्ञप्ति में बताया गया है कि भारतीय सेना की फायर एन्ड फ्यूरी कॉर्प्स ने सियाचिन, लेह और कारगिर जैसे दुर्गम इलाकों में योगाभ्यास कर एक नया इतिहास रच दिया।

गौरतलब है कि योगासन इन इलाकों में तैनात भारतीय सैनिकों की दिनचर्या में शामिल है। इन दुर्गम इलाकों में योग के माध्यम से ये जवान फिट रहते हैं। उन्हें कई तरह के रोगों से लड़ने में सहायता मिलती है। यही नहीं, उन पर शारीरिक के साथ ही मनोवैज्ञानिक दबाव भी कम होता है।

विज्ञप्ति में कहा गया है कि प्राणायाम से कम ऑक्सीजन वाले क्षेत्र में मदद मिलती है।

सियाचिन दुनिया का सबसे दुर्गम युद्धक्षेत्र है। इस क्षेत्र में आमतौर पर लड़ाई नहीं होती, इसके बावजूद मौसम की मार झेलते हुए कई सैनिक शहीद हो जाते हैं।

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर भारतीय थल सेना के अलावा भारतीय नौसेना ने भी अपने युद्धक जहाजों पर योगाभ्यास किया।

ADG PI/Twitter

इस अवसर पर भारतीय वायुसेना ने भी देश के अलग-अलग सैन्य अड्डों पर योगाभ्यास कार्यक्रम का आयोजन किया था।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement